भाजपा मंडल पदाधिकारियों व डिडवाडी गांव के ग्रामीणों ने गुरुवार शाम बौंली थाने पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने पुलिस पर निर्दोष लोगों को गिरफ्तार करने का आरोप लगाया और उन्हें रिहा करने की मांग की।

भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश मंत्री रामावतार मीना ने बताया कि 5 सितंबर 2023 को डिडवाड़ी गांव में पुलिस टीम पर जानलेवा हमला हुआ था। जिसमें 15 नामजद व 15- 20 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। मामले को लेकर पुलिस ने आज सुबह गांव से सात -आठ निर्दोष लोगों को घर से उठाकर थाने में लाकर बंद कर दिया।

सरपंच संघ अध्यक्ष व हिंदूपुरा सरपंच नरेंद्र महावर ने बताया कि पुलिस ने सोते हुए लोगों उठाकर थाने में बंद कर दिया, जो सरासर गलत है। नरेंद्र महावर के मुताबिक पुलिस ने गिरफ्तार किए गए सभी लोग मेहनत मजदूरी करने वाले निर्दोष लोग हैं। जिन्हे बेवजह परेशान किया जा रहा है। ऐसे में दर्जनों ग्रामीणों ने आज बौली थाना पहुंचकर पुलिस की कार्यशैली पर नाराजगी जाहिर की। इसी के साथ ही गिरफ्तार किए गए लोगों को रिहा करने की मांग की।

पुलिस अधिकारियों ने दिया आश्वासन

इस दौरान CO मीना मीणा व SHO हरलाल मीणा ने ग्रामीणों को समझाया। CO मीना मीणा ने बताया कि सभी लोगों को पूछताछ के लिए लाया गया है। वहीं इन्वेस्टिगेशन होने के बाद दोषी लोगों को ही गिरफ्तार किया जाएगा। SHO हरलाल मीणा ने भी मामले में निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया। साथ ही पूछताछ के बाद बेगुनाह लोगों को छोड़ने का आश्वासन दिया है। ग्रामीणों को समझाने के दौरान CO मीना मीणा ने बताया कि पुलिस टीम पर जानलेवा हमला हुआ है। ऐसे में मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। वहीं आरोपी की निशानदेही पर व पुलिस मुखबिर तंत्र के आधार पर लोगों को पूछताछ के लिए लाया गया है। ऐसे में जांच पड़ताल के बाद ही मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी। किसी भी निर्दोष व्यक्ति को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा। ग्रामीणों ने निर्दोष लोगों को रिहा करने की मांग करते हुए थाने का घेराव करने व उग्र आंदोलन करने की चेतावनी भी दी। इस दौरान भाजपा मंडल अध्यक्ष लखन लाल मीणा सहित दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे।

Leave a Reply