एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) का रंगे हाथों पकड़ो अभियान जारी है। आज एंटी करप्शन ब्यूरो कोटा की टीम ने PWD के इलेक्ट्रिक सेक्शन में घूसखोर इंजीनियर को 18 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपी XEN अवध बिहारी मकवाना ने ठेकेदार से बिल पास करने की एवज में रिश्वत मांगी थी। ट्रेप कार्रवाई के बाद PWD में हड़कम्प मच गया। कई पीड़ित ठेकेदार भी शिकायत के लिए मौके पर पहुंचे। ACB की एक टीम आरोपी के घर की तलाशी में जुटी है।

एडीशनल एसपी ACB ठाकुर चंद्रशील ने बताया कि परिवादी रमेश चंचलानी ने 25 मार्च को लिखित शिकायत दी थी। जिसमें बताया था कि वो PWD कोटा में A क्लास ईडब्ल्यूएस में पंजीकृत कांट्रेक्टर है। कोरोना काल में 2020-21 में डीजी जेनरेटर के कार्य किए थे। जिसका भुगतान लगभग 10 लाख रुपए बाकी था। मेरी फर्म व मेरे बच्चे की फर्म की एसीआर रिपोर्ट सही बनाने की एवज में XEN अवध बिहारी मकवाना 30 हजार की रिश्वत की डिमांड की।

शिकायत पर ACB ने सत्यापन करवाया। 25 मार्च को आरोपी ने परिवादी से 15 हजार की रिश्वत ली। शेष रकम बाद में देने को कहा। आज 18 हजार की रकम लेकर परिवादी इलेक्ट्रिक खंड के XEN के ऑफिस में गया। आरोपी अवध बिहारी मकवाना ने अपने ऑफिस में परिवादी से बात कर रिश्वत की रकम खिड़की में पर्दे के पीछे रखवा दी। इशारा मिलते ही ACB ने आरोपी को दबोच लिया।

टीम में ये रहे शामिल

ठाकुर चंद्रशील कुमार, अजीत बगडोलिया सीआई, दिलीप सिंह ,भरत सिंह, नरेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, मुकेश कुमार, योगेंद्र, हेमंत सिंह,बृजराज सिंह शामिल रहे।

Leave a Reply