जयपुर। राजस्थान में अगले 24 घंटे के भीतर बारिश शुरू हो जाएगी और तीन दिन तक प्रदेश के अधिकतर जिलों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की जा सकेगी। उधर, 18 नवंबर को 17 जिलों और 19 नवंबर को 25 जिलों में बारिश की संभावना है। विभाग का पूर्वानुमान है कि कुछेक स्थान पर ओलावृष्टि भी हो सकती है। राजस्थान में तीन सिस्टम बन रहे है, जिसके चलते कोटा और उदयपुर संभाग में बादल छाने लगे हैं। 18 से 20 नवंबर के बीच बारिश का असर छह संभागों में दिखाई देगा। उधर, 21 नवंबर से प्रदेश का मौसम फिर से साफ हो जाएगा।

मौसम केन्द्र जयपुर के निदेशक आर.एस. शर्मा ने बताया कि वर्तमान में एक कम दबाव का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी और दूसरा कम दबाव का क्षेत्र अरब सागर की खाड़ी में बना हुआ है। इसके अलावा अगले 24 घंटों में एक पश्चिमी विक्षोभ भी उत्तर-पश्चिमी भारत के ऊपर प्रभावी होगा। तीनों सिस्टम के प्रभाव से अगले तीन दिन के भीतर दक्षिणी व दक्षिण पूर्वी राजस्थान में मौसम में परिवर्तन होने की प्रबल संभावना है। सिस्टम के कारण 18 व 19 नवंबर को उदयपुर, कोटा, जोधपुर, अजमेर व जयपुर संभाग के जिलों में मेघगर्जन, बिजली चमकने के साथ कहीं-कहीं हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना है।

कोटा, उदयपुर संभाग के जिलों में 20 नवंबर को भी इस सिस्टम का असर जारी रहेगा। हालांकि 21 नवंबर से इस सिस्टम का असर समाप्त होते ही मौसम शुष्क रहेगा। बारिश के चलते आसमान में दिनभर बादल छाए रहने और बारिश होने से अधिकतम तापमान में तीन से चार डिग्री की गिरावट और न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री की बढ़ोतरी होने की संभावना है।

कब कहां बारिश
18 नवंबर को अजमेर, बांसवाड़ा, बारां, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, झालावाड़, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सिरोही, टोंक, जयपुर, नागौर, पाली और जालौर में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होगी।

19 नवंबर को अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सिरोही, टोंक, उदयपुर, नागौर, पाली, जालौर और जोधपुर में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होगी।

Leave a Reply