केंद्र सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास का कर्यकाल तीन साल और बढ़ाने का फैसला किया है। अब शक्तिकांत दास दिसंबर 2024 तक आरबीआई गवर्नर बने रहेंगे। दास को 11 दिसंबर 2018 को आरबीआई का 25वां गवर्नर नियुक्त किया गया था। तब भी उनका कार्यकाल तीन वर्ष का था।

आधिकारिक आदेश में कहा गया कि सरकार दास को आरबीआई के गवर्नर के रूप में पुन: नियुक्त कर रही है। उनकी नियुक्ति 10 दिसंबर 2021 के बाद से तीन वर्ष के लिए की जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में की गई मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति की एक बैठक में यह निर्णय किया गया। तीन वर्ष का दूसरा कार्यकाल मिलने से दास अब दिसंबर 2024 तक आरबीआई के गवर्नर रहेंगे।

कौन है शक्तिकांत दास?

उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद शक्तिकांत दास को आरबीआई गवर्नर नियुक्त किया गया था। 26 फरवरी 1957 को जन्मे शक्तिकांत दास ने इतिहास से दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज से एमए की डिग्री हासिल की है। वे तमिलनाडु कैडर के आईएएस अधिकारी हैं।

केंद्रीय आर्थिक मामलों के सचिव के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान, शक्तिकांत दास को भारत के सबसे शक्तिशाली लोगों में से एक माना जाता था। इससे पहले दास ने भारत के आर्थिक मामलों के सचिव, भारत के राजस्व सचिव और भारत के उर्वरक सचिव के रूप में भी काम किया है।

Leave a Reply