यूपी की सहारनपुर पुलिस ने भारत निर्वाचन आयोग (ECI) की साइट हैक कर फर्जी वोटर कार्ड बनाने के मामले में नकुड़ थाना क्षेत्र निवासी विपुल सैनी को गिरफ्तार किया है। जिसने ‘जस्ट प्रिंट कार्ड’ के नाम से फर्जी वेब साइट बनाकर 10 हजार वोटर आईडी कार्ड बनाए थे। पूछताछ में सामने आया कि विपुल 5 लोगों के साथ मिलकर पूरे काम को अंजाम दे रहा था । इन 5 लोगों में बारां जिले के छबड़ा कस्बा स्थित बापचा थाना क्षेत्र के रूपारेल निवासी दीपक का नाम भी शामिल है। विपुल, फर्जी वेबसाइट से गोरखधंधा चलाने के लिए दीपक के अकाउंट को यूज में लेता था।

यूपी पुलिस ने दीपक के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। दीपक के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद यूपी पुलिस ने बारां पुलिस से सम्पर्क किया। जिसके बाद बारां पुलिस ने दीपक को हिरासत में लेकर पूछताछ की। देर रात यूपी पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने बारां पहुंची।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दीपक छबड़ा में ई मित्र संचालित करता है। उसने टैक्निकल मेहता के नाम से यूट्यूब पर एक चैनल बना रखा है। जिस पर वो विज्ञापन बनाकर चलाता है। विपुल ने तीन चार बार दीपक के यू ट्यूब चैनल पर विज्ञापन चलवाए थे। जिसके बाद दोनों में जान पहचान बढ़ गई थी। इसके बाद विपुल ने 50 प्रतिशत का लालच देकर दीपक को अपने साथ शामिल किया। विपुल ने फर्जी वेब साइट के लिए दीपक के अकाउंट का सहारा लिया।

50-50 प्रतिशत की पार्टनरशिप

दीपक का ननिहाल व ससुराल एमपी में है। दीपक ने कुंभराज, जिला गुना (एमपी) की SBI बैंक में अपना अकाउंट खुला रखा है। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी विपुल, फर्जी वेबसाइट से गोरखधंधा चलाने के लिए दीपक के अकाउंट को यूज में लेता था। इसके बदले दीपक 50 प्रतिशत हिस्सा लेता था।

Leave a Reply