सुपरस्टार से राजनेता बने रजनीकांत ने अब राजनीति से हमेशा के लिए अलग होने के फैसला ले लिया है। रजनीकांत ने सोमवार को अपने बनाए राजनीतिक संगठ रजनी मक्कल को भी भंग कर दिया. इसी के साथ ही उन्होंने कहा कि अब भविष्य में फिर से राजनीति में आने का उनका कोई इरादा नहीं है। इससे यह साफ होता है कि सुपरस्टार रजनीकांत ने अब राजनीति को हमेशा-हमेशा के लिए विदा कर दिया है।

रजनीकांत ने कहा, “.यह मंच अब कल्याणकारी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए रजनी रसीगर नरपानी मंदरम के रूप में कार्य करेगा। 

रजनीकांत ने अपने बयान में कहा, “हमने रजनी मक्कल मंदरम को रजनी रसीगर मंदरम में बदल दिया है. मैने राजनीति में आने का फैसला किया था तो पूरे राज्य में कई पदों और समूहों का निर्माण किया था. लेकिन अप्रत्याशित परिस्थितियों के कारण, हम वह हासिल नहीं कर पाए जो हम चाहते थे। मेरी भविष्य में राजनीति में आने की कोई योजना नहीं है। अत: मैं आपको सूचित करना चाहता हूँ कि रजनी मक्कल मंदरम भंग कर दिया जाएगा और यह पहले की तरह कल्याणकारी गतिविधियों को करने के लिए रजनी रसीगर मंदरम के रूप में कार्य करता रहेगा।”

Leave a Reply