लखनऊ। यूपी समेत पूरा उत्तर भारत इन दिनों भयंकर गर्मी की चपेट में हैं। पारा कुलांचे मारता हुआ 40 डिग्री सेल्सियस को क्रॉस कर रहा है। ऐसे में एयरकंडीशन (AC) ही लोगों को गर्मी से निजात दिला सकता है। लोग खरीदते भी हैं, लेकिन इसे थोड़े समय के लिए ही चलाते हैं। क्योंकि एसी चलाने में बिजली का बिल बहुत ज्यादा आ जाता है। लोगों की इसी परेशानी को देखते हुए अब सोलर एसी (Solar AC) बाजार में आ गया है। आप बेफिक्र होकर 24 घंटे एसी चलाइए और बिजली के बिल (Electricity Bill) की टेंशन भूल जाइए। सोलर एसी थोड़े महंगे जरूर होते हैं, लेकिन लंबे समय के लिए आपको बिजली के बिल से बेफिक्र कर देते हैं।

महंगी बिजली को देखते हुए लखनऊ सहित कई बड़े शहरों में लोगों का रुझान सोलर एसी की तरफ बढ़ रहा है। बाजार में एक टन सोलर एसी की औसतन कीमत (Solar AC Price) करीब 1 लाख रुपए है और 1.5 सोलर एसी की कीमत करीब 2 लाख रुपए है, जो बिजली के एसी से करीब ढाई से तीन गुना ज्यादा है। भले ही सोलर एसी महंगा है, लेकिन इसके खास फीचर इसे सस्ता बनाते हैं। बिजली के एसी की तुलना में इसका मेंटेनेंस (Solar AC Maintenance) खर्च काफी कम है। बाजार में हाई ब्रिड सोलर एसी भी उपलब्ध हैं, जिन्हें 5 स्टार रेटिंग मिली हुई है। इन्हें तीन तरीके से चलाया जा सकता है। नंबर एक सोलर पॉवर से, नंबर दो बैटरी बैकअप से और नंबर तीन सीधे बिजली से। ऐसे में अगर मौसम खराब होने की वजह से धूप न निकले तो आप इसे बिजली से भी चला सकते हैं।

जानें- आपके लिए कैसे बेहतर है सोलर एसी
उदाहरण के लिए, अगर आप एक टन वाला बिजली का एसी (Electric AC) चलाते हैं तो औसतन रोजाना 20-25 यूनिट और महीने में 600-800 यूनिट बिजली खर्च होगी। उत्तर प्रदेश में बिजली के प्रति यूनिट का रेट 8 रुपए तक है। ऐसे में महीने भर एसी चलाने का खर्च करीब 5000 आएगा। इस तरह गर्मियों के 8 महीने एसी चलाने का खर्च 40,000 रुपए तक खर्च आएगा। दो साल में यह करीब 80,000 रुपए हो जाएगा। अगर इसमें एसी की कीमत (30,000) जोड़ दें तो यह बजट करीब एक लाख से ऊपर पहुंच जाएगा। ऐसे में सोलर एसी बेहद फायदेमंद हैं।

Leave a Reply