जयपुर. राजस्थान में राजनीतिक संकट के दौर का हल मंत्रिमंडल विस्तार में नजर आ रहा था. लेकिन लगता है कि मंत्रिमंडल फेरबदल को लेकर चल रही उठापटक फिलहाल शांत होने वाली नहीं है क्योंकि राज्य निर्वाचन आयोग ने 9 जिलों में होने वाले नगर निकाय उपचुनाव को लेकर कार्यक्रम जारी कर दिया है.

राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से जारी कार्यक्रम के अनुसार शहरी निकायों के दो अध्यक्षीय पदों और सदस्यों के 18 रिक्त पदों पर उपचुनाव होंगे. कार्यक्रम जारी होने के साथ सम्बंधित जिलों के क्षेत्र में आदर्श आचार सहिंता लग गई है.

कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में कमी आने के साथ ही राज्य निर्वाचन आयोग ने राज्य की नगर निकाय और पंचायत चुनाव की तैयारियां तेज कर दी है. पहले दौर में राज्य निर्वाचन आयोग नगर निकाय उपचुनाव का कार्यक्रम जारी किया है. इसके बाद यह माना जा रहा है कि पंचायत चुनाव का कार्यक्रम भी जल्द जारी होंगे. अगर ऐसा होता है तो प्रदेश में चल रही मंत्रिमंडल फेरबदल को लेकर सियासी अटकलों पर विराम लग सकता है.

राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से 9 जिलों में होने वाले नगर निकाय उपचुनाव का कार्यक्रम जारी किया है. जिसके तहत सदस्य पद के लिए अधिसूचना 12 जुलाई को जारी होगी. नामांकन पत्र 16 जुलाई सुबह 10:30 बजे से पेश किया जा सकेंगे. नामांकन पत्रों की जांच होगी 17 जुलाई को सुबह 10:30 बजे, अभ्यर्थिता 19 जुलाई दोपहर 3 बजे तक नाम वापसी सकती है. 20 जुलाई को चुनाव चिन्हों का आवंटन होगा, सदस्य पद के लिए मतदान 26 जुलाई सुबह 8:00 से शाम 6:00 बजे तक, सदस्य पद के लिए मतगणना 28 जुलाई सुबह 8:00 बजे से, अध्यक्ष पद के लिए अधिसूचना 29 जुलाई को जारी होगी. नामांकन पत्र 30 जुलाई सुबह 10:30 से दोपहर 3:00 बजे तक पेश किए जा सकेंगे.

आवंटन

नामांकन पत्रों की जांच 31 जुलाई सुबह 10:30 बजे से होगी. अभ्यर्थिता 2 अगस्त दोपहर 3:00 बजे तक वापस ली जा सकती है. 2 अगस्त को नामांकन वापस लेने के समय के तुरंत बाद चुनाव चिन्ह का आवंटन होगा. अध्यक्ष पद के लिए मतदान 5 अगस्त सुबह 10:00 से दोपहर 2:00 बजे तक, अध्यक्ष पद के लिए मतगणना 5 अगस्त मतदान समाप्ति के तुरंत बाद होगी. सभी चुनाव ईवीएम से कराए जाएंगे.

कोरोना से बचाव के किये जायेंगे उपाय

निर्वाचन आयोग की ओर से जारी गाइडलाइन के अनुसार साफ किया गया है कि कोरोना लेकर जो आयोग ने गाइडलाइन जारी की है उसकी पालना हो. चुनाव के दौरान किसी भी तरह के सोशल , डिस्टेंसिंग , मास्क , सैनिटाइजर आदि की गाइड लाइन की पूरी तरीके से पालना हो. इसको लेकर सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देशित किया गया है.

संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता तुरंत प्रभाव से हुई लागू

आयुक्त की ओर से 9 जिलों की नगर निकाय उप चुनाव कार्यक्रम जारी होने के साथ ही संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में आदर्श आचार संहिता तुरंत प्रभाव से लागू हो गई है. अब इस बीच किसी भी तरह का राजनीतिक कार्यक्रम की घोषणा नहीं हो सकती.

राजनीतिक मायने

कोरोना संक्रमण के कम होते आंकड़ों के बीच राज्य निर्वाचन आयोग शेष बची ने नगर निकाय और पंचायत समिति के चुनाव संपन्न कराने की तैयारी शुरू कर दी है. नगर निकाय उप चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. इसके साथ ही अभी माना जा रहा है कि जल्द ही पंचायत समिति एक चुनाव भी जल्द कराए जाएंगे. ऐसा होता है तो मंत्रिमंडल फेरबदल को लेकर चल रही अटकलों पर विराम लगेगा.

अगस्त के दूसरे सप्ताह तक नगर निकाय उप चुनाव समाप्त होंगे. उसके बाद पंचायत समिति चुनाव की तारीखों का ऐलान होता है तो सितंबर के आखिरी सप्ताह तक पंचायत समिति चुनाव संपन्न होंगे. ऐसे में यह तय है कि मंत्रिमंडल फेरबदल सितंबर के आखिरी तक चल सकता है.

Leave a Reply