अब CSIR की स्टडी बताती है कि हवा के जरिए कोरोना फैल सकता है, लेकिन अगर कमरों में वेंटिलेशन अच्छा रहा तो ये खतरा कम हो सकता है.

कोरोना वायरस पर कई स्टडी की जा चुकी हैं. दावे अलग होते हैं, लेकिन इस वायरस के स्वरूप को समझने में मददगार रहते हैं. अब भारत में CSIR ने भी एक स्टडी की है. उन्होंने भी यहीं जानने का प्रयास किया अगर कोरोना हवा के जरिए फैल सकता है या नहीं? अब CSIR की स्टडी बताती है कि हवा के जरिए कोरोना पै सकता है, लेकिन अगर कमरों में वेंटिलेशन रहा तो ये खतरा कम हो सकता है. स्टडी के मुताबिक जिन कमरों में वेंटिलेशन ठीक नहीं रहता, वहां पर कोरोना हवा के जरिए ज्या तक ट्रैवल कर सकता है.

स्टडी में ये भी पाया गया है कि नेचुरल एनवायरमेंट कंडीशन में कोरोना वायरस ज्यादा दूर तक नहीं ट्रैवल करता है, वहीं अगर मरीज बिना लक्षणों वाला है, तो ये खतरा और ज्यादा कम हो सकता है. लेकिन स्टडी में सबसे ज्यादा जोर कोरोना के इनडोर ट्रांसमिशन पर दिया गया है. जानने का प्रयास रहा है कि बंद कमरों में कोरोना हवा के जरिए फैल सकता है या नही स्टडी में दो पहलुओं पर फोकस किया गया पहला पहलू ये है कि अगर कमरों में खिड़किया को खोल दिया जाए तो कोरोना ट्रांसमिशन कम किया जा सकता है. सिर्फ वेंटिलेशन ध्यान देने से ही खतरे को आधा किया जा सकता है.

Leave a Reply