सवाई माधोपुर में एक विधवा को डायन बताकर ससुराल से निकालने का मामला सामने आया है। विधवा महिला का आरोप हैं कि पति के नाम लाखों रुपए की संपत्ति ससुरालवालों ने हड़प ली। इसके बाद विधवा अब दर-दर भटकने को मजबूर है। मामले में पीड़िता सोमवार को एसपी से मिलने पहुंची, लेकिन कार्यालय के बाहर मौजूद पुलिसकर्मियों ने मिलने नहीं दिया और करीब 6 घंटे इंतजार करने के बाद उसे भगा दिया।

सैय्यदा बी ने बताया की उसके पति की मौत के कुछ दिन बाद से ही ससुराल वालों ने उसे ताना मारना शुरू कर दिया था की तू डायन है अपने पति को खा गयी। काला जादू करती है और हमें भी मार डालेगी। इस दौरान उससे कई बार मारपीट भी की गयी। इसी के साथ उसे घर से निकाल दिया। जिसके बाद वह अपने बच्चों के साथ दर दर की ठोकरे खाने को मजबूर है। पुलिस की ओर से 6 माह बीत जाने के बाद भी मामलें में कोई कार्रवाई नहीं की गयी है।

विधवा सैय्यदा बी ने बताया कि उसके पति की 9 जून 2020 को मौत हो गई थी। इसके बाद उसके ससुराल वाले लगातार डायन बताकर उसे प्रताड़ित करने लगे। इसी के साथ दबंगाई से उसके पति की लाखों रुपए की संपत्ति व व्यापार को भी हड़प लिया। पति की संपत्ति के उत्तराधिकारी वह और उसके बच्चे हैं। 15 जनवरी 2021 को उसकी ओर से महिला थाने में एफआईआर दर्ज करवाई गई। छह महीने हो गए लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। पीड़िता का कहना है कि पति की मौत के बाद 6 साल की बच्ची व 4 साल का बेटा उसके जिम्मे है, जिनकी जिम्मेदारी उठाने में वह सक्षम नहीं है। वह खुद और उसके दोनों बच्चें दो जून की रोटी के मोहताज हैं, लेकिन उसे न्याय नहीं मिल पा रहा है ।

Leave a Reply