मां बच्चों के​ लिए कोई भी कुर्बानी देने के लिए तैयार रहती है। लेकिन रूस की एक 25 वर्षीय महिला ने अपने बच्चों के साथ ऐसा कुछ किया कि आप भी जानकर सोच में पड़ने वाले हैं कि आखिर इतना बुरा कोई मां कैसे कर सकती है। मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, अपने दोस्तों के साथ दारू पार्टी करने के लिए एक महिला ने अपने 11 माह के मासूम बेटे और तीन साल की बेटी को घर में कैद कर दिया था। चार दिन तक मासूम बेटे की भूख से तड़पने के बाद पालने में ही मौत हो गई।

पति से अलग रह रही थी

25 वर्षीय महिला ओल्गा बाजरोवा (Olga Bazarova) रूस के ज्लाटाउस्ट की रहने वाली हैं। वो अपने पति से अलग रहती हैं। वो अपने 11 महीने के बेटे सेवली और 3 साल की बेटी को घर में बंद करके दारू पार्टी करने चली गई थी।

चार दिनों तक नहीं आई वापस

वो इस पार्टी में इतना खो गई कि चार दिनों तक घर वापस नहीं आई। बच्चे इस दौरान फ्लैट में ही कैद थे। ओल्गा ने बच्चों के बारे में कोई जानकारी नहीं ली। जब वो घर आई तो उन्होंने देखा कि 11 महीने का मासूम बेटा भूख और प्यास के कारण दम तोड़ चुका था।

बेटी की हालत थी नाजुक

उनकी 3 वर्षीय बेटी की हालत भी नाजुक थी। वो काफी कमजोर हो चुकी थी। घर जाने के दौरान ओल्गा ने बच्चों की दादी को कॉल किया था। दादी घर पहुंची तो वो यह सब देखकर दंग रह गईं। उन्होंने पुलिस को कॉल लगाया। पुलिस ने ओल्गा को गिरफ्तार किया और बेटी को तुरंत अस्पताल पहुंचाया।

मारने का कोई इरादा नहीं था

ज्लाटौस्ट शहर की एक अदालत ने इस मामले में सुनवाई की। ओल्गा बजरोवा को नाबालिग की हत्या का दोषी पाया। अदातल में उन्होंने कहा कि उन्हें अपने बच्चों को छोड़ने का पछतावा है, लेकिन बच्चों को मारने का उसका कोई इरादा नहीं था।

Leave a Reply