(देश न्यूज)
बकानी 11 जून।नगर में आज जैन श्वेताम्बर खरतरगच्छ के पूज्य गुरुदेव श्री महेंद्र सागर जी महाराजसा आदिठाना 9 एवंमहासती प्रभंजनाश्री जी आदि ठाना 3 एवं दीक्षार्थी भाई 5, का मध्यप्रदेश से राजस्थान में पहला मंगल प्रवेश हुआ।नगरवासियों में चतुर्विध संघ एकत्रित होने से अत्यधिक हर्ष हुआ और धर्ममय माहौल बनाप्रात: से ही जयपुर, कोटा, झालावाड़, रामगंजमंडी, पाटन आदि नगरों से जैन श्रावक श्राविका राजस्थान में मंगलप्रवेश के समय उपस्तिथ रहे। जैन श्वेताम्बर सोशल ग्रुप बकानी ने सभी का स्वागत द्वार बनाकर एवं ठोल बजाकर स्वागत किया।संत-संतीयो ने जैन मंदिर बकानी में भगवान आदिनाथ के दर्शन, चैत्य वंदन,भक्ति पूर्वक स्तवन गाये, बाद में ओसवाल भवन में महाराज श्री द्वारा प्रवचन दिया गया जिसमे कहाकि आज मानव में वीरता कम और कायरता बढ़ती जा रही है। उन्होंने तीन कायरता बताई की आदमी सुविधा, मान, और भोग में लिप्त होकर कायर होता जा रहा है। हर एक बात में सुविधा ढूंढता है, अपना मान सम्मान चाहता है, भोगों के पीछे भागता है।दोपहर मे दादा गुरु की पूजा भक्ति भाव से की गई और सांयकाल धर्मचर्चा की गयी।बकानी के बाद महाराजसा रायपुर, झालावाड़, कोटा, होते हुए जयपुर चातुर्मास के लिए पहुंचेंगे। उपरोक्त जानकारी जैन सोशल ग्रुप राजस्थान रीजन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष महेंद्र भंडारी ने दी। इस मंगल अवसर पर कोटा से श्री जैन श्वेतांबर पेढ़ी के प्रतिनिधिमंडल ने अध्यात्म योगी परम पूज्य महेंद्र सागर जी महाराज आदि ठाणा 9 एवं परम पूज्य प्रभंजना श्री जी महाराज साहब के राजस्थान में प्रवेश पर वंदना की। पेढ़ी के मंत्री प्रदीप छाजेड़ ने समस्त श्री संघ की ओर से अध्यात्म योगी महेंद्र सागर जी महाराज साहब आदि ठाणा से वर्तमान काल में कोटा में अधिकाधिक स्थिरता देने की विनती की। कोटा श्री संघ के प्रतिनिधि मंडल ने परम पूज्य महाराज साहब के राजस्थान आगमन को परम शुभ अवसर बताते हुए उनका एक चातुर्मास कोटा को आगामी भविष्य में देने की विनती की। इस प्रतिनिधिमंडल में पेढ़ी के उपाध्यक्ष लोकेंद्र डांगी, कार्यकारिणी सदस्य रमेश बिरोलिया, एवं समाज के वरिष्ठ श्रावक अजीत चंडालिया एवं श्री ओम जी जैन शामिल थे। परम पूज्य महाराज साहब कल प्रात: बकानी से विहार कर रायपुर पधारेंगे एवं 13 तारीख को झालरापाटन और 14 तारीख को झालावाड़ में स्थिरता रखेंगे।

Leave a Reply