कोरोनावायरस से बचना है तो इम्यून सिस्टम मज़़बूत करना ही होगा। आप जानते हैं कि इम्यून सिस्टम क्या है? जब भी शरीर पर कोई बाहरी बैक्टीरिया, वायरस या रोगजनक हमला करता है तो हमारा इम्यून सिस्टम सक्रिय हो जाता है और इन वायरस से बचाव की प्रक्रिया शुरू कर देता है। आसान शब्दों में कहें तो इम्यून सिस्टम शरीर की आंतरिक प्रतिरक्षा प्रणाली होती है जो शरीर की बाहरी खतरों से सुरक्षा करती है। कोरोना से बचाव के लिए सभी देशों की सरकारें वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को अंजाम दे रही हैं ताकि इम्यूनिटी को इंप्रूव किया जा सके।

इम्यूनिटी में बदलाव का कैसे पता करें:

उम्र के साथ-साथ इम्यून सिस्टम में बदलाव आता रहता है। जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है बॉडी में प्रोटीन की मात्रा कम होती जाती है और इम्यून सिस्टम कमजोर होता जाता है। 18 साल तक सबसे अच्छा इम्यून सिस्टम रहता है। अब सवाल यह है कि हम कैसे पहचाने की हमारी इम्यूनिटी इंप्रूव है या कम है। आइए जानते हैं कि कैसे पता लगाएं और इसे बढ़ाने के उपाय कौन-कौन से हैं।

कैसे पता चलेगा इम्यूनिटी कमजोर होने का:

जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, वे जरा सी एलर्जी भी बर्दाश्त नहीं कर पाते और ऐसी स्थितियों में बीमार पड़ जाते हैं। यूं तो अक्सर ब्लड रिपोर्ट से पता किया जाता है कि व्यक्ति की इम्यूनिटी कैसी है, लेकिन इम्यून सिस्टम के कमजोर पड़ने पर हमारा शरीर भी कई तरह के संकेत देने लगता है।

कमजोर इम्यूनिटी के संकेत है जैसे

अक्सर सर्दी-जुकाम रहना 

खांसी या गला खराब होना 

लगातार थकान, आलस होना

लंबे समय तक किसी घाव का न भरना आदि

इम्यूनिटी इंप्रूव करने का तरीका

संतुलित आहार लेने से इम्यूनिटी नॉर्मल रहती है। विटामिन सी एंटीबॉडी बनाने में काम करता है। आयरन इसमें सपोर्ट करता है। खाने में विटामिन सी और आयरन लेने से इम्यूनिटी की ऑटोरिकवरी हो जाती है।

Leave a Reply