तीन पीढ़ियों से कांग्रेसी रहे जितिन प्रसाद के बीजेपी में आने के बाद अब उनकी पुरानी पार्टी उन पर हमलावर हो गई है। एक तरफ मध्य प्रदेश कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से उन्हें कूड़ा तक बता दिया गया तो कई नेताओं ने उन पर विश्वासघात का आरोप लगाया है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के ट्वीट पर जितिन प्रसाद ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। प्रसाद ने कहा, ‘मुझे कोई टिप्पणी नहीं करनी है। हर कोई आलोचना के लिए स्वतंत्र है। जिनकी सोच छोटी है, उनकी कभी बड़ी नहीं होगी। मैं हर किसी की आलोचना को प्रसाद के तौर पर लेता हूं। मुझे विश्वास है कि मेरा फैसला सही है और देश के हित में है।’ बता दें कि मध्य प्रदेश कांग्रेस ने बुधवार को उन्हें लेकर विवादित ट्वीट किया था, जिसमें उन्हें कूड़ा करार दिया था। हालांकि बाद में उस ट्वीट को हटा लिया गया था। 

जितिन प्रसाद के फैसले पर कांग्रेस के सीनियर लीडर मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी हमला बोला है। खड़गे ने कहा, ‘जितिन प्रसाद परंपरागत कांग्रेसी रहे हैं। हमने उन्हें सम्मान दिया और कभी नजरअंदाज नहीं किया। वह महासचिव थे, बंगाल के प्रभारी थे। हर बार चुनाव लड़ने का भी मौका दिया गया था। इसके बाद भी यदि वह कांग्रेस और उसकी विचारधारा की आलोचना करते हैं तो यह दुखद है। इसी पार्टी के लिए उनके पिता ने भी काम किया था।’ खड़गे की इस टिप्पणी पर भी प्रसाद ने जवाब दिया है। उन्होंने कहा, ‘मैं क्या कह सकता हूं? वह एक सीनियर नेता हैं, लेकिन यूपी की स्थिति मैं जानता हूं। लोगों और कांग्रेस के बीच कनेक्शन नहीं है। मैं सब कुछ सोचकर यह फैसला लिया है।’

Leave a Reply