यूपी के लखीमपुर खीरी जिले से शर्मनाक घटना सामने आई है। मजदूरी करने गईं तीन दलित युवतियों के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। इनमें से दो सगी बहनों की तहरीर पर पुलिस ने एक रिश्तेदार के खिलाफ नामजद और चार अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पीड़िताओं को मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा है। नामजद रिश्तेदार को  पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

कोतवाली सदर क्षेत्र में रहने वाली दो सगी बहनों ने शनिवार को पुलिस को तहरीर दी। बताया कि शुक्रवार को गांव का ही एक रिश्तेदार मोहन उनको व एक अन्य युवती को मजदूरी कराने ले गया था। तीनों को फूलबेहड़ थाना क्षेत्र के एक खेत पर गन्ने की निराई का काम करना था। पीड़िताओं ने बताया कि शाम को उनको छुट्टी मिली तो वह घर आ रही थीं। रास्ते में खेत के पास ही उनके रिश्तेदार समेत पांच लोगों ने उन्हें जबरन रोक लिया। उनको गन्ने के खेत में उठा ले गए और गैंगरेप किया। आरोपी मौके से भाग गए। युवतियों का कहना है कि वे बेहोश हो गई थीं। अगले दिन शनिवार को वे थाने पहुंचीं और तहरीर दी।
पुलिस ने तहरीर के आधार पर आरोपी रिश्तेदार मोहन और चार अन्य के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर मोहन को हिरासत में ले लिया है।

दो तहरीरों ने उलझाया, संदिग्ध हो गई घटना   
पुलिस का कहना है कि शुक्रवार की देर शाम सदर कोतवाली की महेवागंज पुलिस चौकी पर तीनों लड़कियों ने एक शिकायत की, जिसमें उन्होंने महेवागंज निवासी मोहन पर मजदूरी न देने का आरोप लगाया। पुलिस ने महिलाओं और मोहन को सुबह चौकी पर बुलाया लेकिन महिलाएं चौकी नहीं गई और कोतवाली पहुंच गई। यहां मोहन समेत पांच लोगों पर गैंगरेप का आरोप लगाया। कोतवाली पुलिस ने महिलाओं को फूलबेहड़ थाने भेजा। यहां महिलाओं ने गैंगरेप की तहरीर दी जिसपर मुकदमा दर्ज किया गया।

एसपी विजय ढुल ने बताया, शुक्रवार की देर शाम महेवागंज चौकी में तीन युवतियों ने एक लिखित शिकायत दी। जिसमें आरोप लगाया गया कि उन्हीं के गांव में रहने वाला मोहन जो दूर का रिश्तेदार है, उनको मजदूरी पर ले गया था, लेकिन उनकी मजदूरी नहीं दी। इसी पर दोनों पक्षों को महेवागंज चौकी बुलाया गया था। इसके बाद वह कोतवाली सदर पहुंची और मोहन व कई अज्ञात लोगों पर मौखिक रेप का आरोप लगाया।  आज की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। महिलाओं का मेडिकल कराया जा रहा है। साक्ष्यों के आधार पर आगे कार्रवाई होगी।

Leave a Reply