आरबीएसई राजस्थान बोर्ड 10वीं 12वीं बोर्ड परीक्षाएं भी रद्द कर दीं गई हैं। बुधवार शाम हुई कैबिनेट बैठक में सीबीएसई की तर्ज पर कोविड-19 महामारी के चलते छात्रों के स्वास्थ्य व सुरक्षा को ध्यान में रखकर परीक्षाएं न कराने का फैसला लिया गया। बैठक में सीएम अशोक गहलोत, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा समेत कई अन्य मंत्री व वरिष्ठ शिक्षा अधिकारी मौजूद थे।

कैबिनेट बैठक के बाद गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि छात्रों के स्वास्थ्य, सुरक्षा और हित को ध्यान में रखकर इस वर्ष परीक्षा ना कराने का फैसला किया गया है। छात्रों को किस आधार पर मार्क्स दिए जाएंगे, इसका फॉर्मूला राजस्थान बोर्ड और शिक्षा विभाग के अधिकारी मिलकर तय करेंगे। अगर कोई छात्र मार्क्स से असंतुष्ट रहता है तो सीबीएसई की तरह उसे भी हालात सामान्य होने पर परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि बैठक में बोर्ड परीक्षाओं को निरस्त करने के बाद रिजल्ट तैयार करने के लिए दूसरे विकल्पों पर भी चर्चा हुई। हालांकि, यह अभी तक साफ नहीं हो पाया है कि बोर्ड किसी आधार पर छात्रों के रिजल्ट तैयार करेगा।

इस बार 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए 21.58 लाख से ज्यादा विद्यार्थी पंजीकृत है। इसमें 10वीं में करीब 12 लाख व 12वीं में करीब साढे़ 9 लाख स्टूडेंट हैं।

Leave a Reply