अररिया में रामघाट पंचायत के वार्ड संख्या 14 में पंजाब के अमृतसर की एक महिला से प्रेम विवाह करने पर एक युवक को ग्रामीणों ने भोज देने और डेढ़ लाख रुपये जुर्माना का तुगलकी फरमान सुना दिया। जब युवक और उसके परिजन इसके लिए तैयार नहीं हुए तो मंगलवार को ग्रामीणों ने घर में घुसकर महिलाओं की पिटाई की और युवक के पिता को खूंटे से बांध कर पीटा। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने पिता को छुड़ाया और केस दर्ज कर मामले की छानबीन कर रही है।

रामघाट पंचायत के सीताराम यादव का बेटा सुमन यादव अमृतसर में रह कर मजदूरी करता था। वहीं दो बच्चों की मां उषा देवी के साथ कई सालों से उसका प्रेम प्रसंग चल रहा था। दो माह पूर्व उषा देवी अपने दोनों बच्चों को साथ लेकर नरपतगंज आ गई। यहां दोनों ने हिन्दू रीति रिवाज से शादी कर ली और साथ रहने लगे। यह बात ग्रामीणों को नागवार गुजरी।

ग्रामीणों ने सोमवार को नरपतगंज थाना में आवेदन दिया कि सीताराम यादव ने अमृतसर की महिला एवं दोनों बच्चों को गायब कर दिया है। पीड़ित परिजनों का आरोप है कि मंगलवार को इसी बात को लेकर ग्रामीणों ने सीताराम यादव के पिता को खूंटे से बांधकर पीटा। इसी दौरान 10-15 लोगों ने जबरन सीताराम यादव के घर में घुसकर महिलाओं को भी पीट पीटकर जख्मी कर दिया।

इस बाबत सीताराम यादव की दूसरी बहू सीता देवी ने गांव के ही मुन्ना यादव, अमरेंद्र यादव, अरुण यादव, किशन कुमार, गणेश यादव, बेचन यादव आदि पर घर में घुसकर मारपीट  तथा दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए आवेदन दिया है। इधर नरपतगंज थाना अध्यक्ष एमए हैदरी ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। घटना के बाद से सभी आरोपी फरार हैं।

Leave a Reply