महाराष्ट्र के नवी मुंबई से मोहब्बत को शर्मसार करने वाली एक खबर सामने आई है। यहां एक शख्स ने केटामाइन इंजेक्शन देकर अपनी ही प्रेमिका की हत्या कर दी। इस हत्या की वजह जानकर पुलिस भी चौंक गई। आरोपी ने पुलिस को बताया कि महिला को एक गंभीर बीमारी का पता चला था, जिसके चलते वह उससे शादी नहीं करना चाहता था। इसलिए शादी से छुटकारा पाने के लिए उसकी बीमारी का इलाज करने के बहाने शख्स ने उसकी हत्या कर दी।

 पनवेल पुलिस थाने के अधिकारियों के मुताबिक 29 मई को पनवेल इलाके में एक महिला का शव मिला था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और मामले की जांच शुरू कर दी। महिला के शव की तत्काल पहचान नहीं हो सकी क्योंकि उसके साथ कोई आईडी या दस्तावेज नहीं था। इसके बाद रविवार को एक ऑटो चालक को आधार कार्ड के साथ एक प्लास्टिक बैग, एक पर्स और एक महिला के कुछ कपड़े मिले। पुलिस को पता लगा की ये सब कुछ उस मृत महिला का ही है। बाद में, एक अन्य व्यक्ति रमेश थोम्ब्रे थाने पहुंचा और मृतक महिला की पहचान की। उसने बताया कि ये शव उसकी बहन का है। 

थोम्ब्रे ने अधिकारियों को बताया कि पनवेल के एक अस्पताल में कार्यरत चंद्रकांत गायकर नाम के शख्स का उसकी बहन से अफेयर चल रहा था। उसने आगे दावा किया कि उसने उसे फोन पर गायकर से फोन पर बहस करते हुए सुना था।

इसके बाद आनन-फानन में आरोपी को पकड़ने के लिए टीम भेजी गई। पूछताछ के बाद गायकर ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। उसने जांच अधिकारियों को बताया कि उसका महिला के साथ पिछले 6 महीने से अफेयर चल रहा था। उसने आरोप लगाया कि महिला बीमार होने के चलते उसे जल्द शादी करने के लिए धमका रही थी। इसलिए दबाव से तंग आकर उसने उसे मारने का फैसला किया।

गायकर के अनुसार, उसने केटामाइन का इंजेक्शन लिया और अपनी प्रेमिका से झूठ बोला कि इससे उसकी बीमारी ठीक हो जाएगी। उसकी हत्या करने के बाद, उसने महिला का मोबाइल फोन और बैग फेंक दिया। गायकर को सोमवार को अदालत में पेश किया गया। इसके बाद उसे 6 जून, 2021 तक के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

Leave a Reply