जयपुर. प्रदेश में कम होते कोरोना संक्रमण के आंकड़े राहत दे रहे हैं. हर दिन संक्रमण के आंकड़ों में कमी आ रही है. इसी बीच गहलोत सरकार लॉकडाउन में राहत दे सकती है. सूत्रों की मानें तो सोमवार की रात तक गृह विभाग राहत भरी गाइडलाइन जारी कर सकता है. जिसमें 1 जून से मिनी अनलॉक की शुरुआत हो सकती है.

प्रदेश की गहलोत ने कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए पहले जन अनुशासन पखवाड़ा, फिर रेड अलर्ट जन अनुशास पखवाड़ा, उसके बाद 10 मई से 15 दिन के सख्त लॉकडाउन लागू किया. जिसे बाद में बढ़ाते हुए 8 जून कर दिया गया. सरकार इस रणनीति में कामयाब भी हुई. लॉकडाउन के बाद कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में तेजी से गिरावट आई. 10 मई को संक्रमितों की संख्या 17 हजार के करीब थी. अब यह संख्या दो हजार के करीब आ गई है. यही वजह है कि गहलोत सरकार अब 8 जून तक के लिए जारी की गई गाइडलाइन में कुछ छूट के साथ संशोधित गाइडलाइन जारी कर सकती है.

रोजमर्रा की दुकानों को मिल सकती है राहत

पहले फेज में रोजमर्रा की जरूरत वाली दुकानों को खोलने की मंजूरी दी जाने की संभावना है. जिसमें हाइवे पेट्रोल पंप, ढाबे, मोटर गैराज आदि खोले जा सकते हैं. इसके साथ शहर में किराना और खाद्य सामग्री, दूध, डेयरी जैसी दुकानों के खुलने का समय बढ़ाया जा सकता है. किराना दुकानों का समय सुबह 6 बजे से 11 बजे है, जिसे शाम 5 बजे तक बढ़ाया जा सकता है. इसके साथ गर्मी को देखते हुए इलेक्ट्रॉनिक की दुकान, कूलर और फ्रिज आदि को निर्धारित समय पर खोलने की अनुमति मिल सकती है. पहले फेज में एक्सपर्ट्स ने कुछ बंदिशें ही हटाने का सुझाव दिया है. इसके आधार पर ही गाइडलाइन तैयार की जा रही है. पहले से जिन दुकानों और गतिविधियों को छूट मिल रही हैं, उनकी संख्या में और बढ़ोतरी की जाएगी.

सरकार के कोरोना कोर ग्रुप के एक्सपर्ट भी मानते हैं कि कोरोना केस कम होने और एक्टिव रोगियों की संख्या कम हो तो बाजार में चुनिंदा दुकानों को खोला जा सकता है. यह बहुत सावधानी से करना होगा. पहले फेज में केवल कम भीड़ की संभावना वाली दुकानों को ही खोला जाए. जहां पर कोरोना केस कम हैं, वहां कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए पूरी सावधानी बरतते हुए दुकानें और कमिर्शियल एक्टिविटी को मंजूरी दी जा सकती है. जिससे जीविका भी चलती रहे.

आवागमन पर लगी रोक हट सकती है. अनलॉक में एक जिले से दूसरे जिले, एक शहर से दूसरे शहर और एक गांव से दूसरे गांव में आवागमन पर लगी रोक हट सकती है. निजी वाहनों को शर्तों के साथ अनुमति दी जा सकती है.

अनलॉक में ये खुल सकते हैं

  • जनरल स्टोर, कपड़े की दुकानें, व्हीकल रिपेयरिंग वर्कशॉप
  • किराना, खाद्य सामग्री की दुकानों के खुलने का समय बढ़ना तय
  • रेस्टोरेंट्स से होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी
  • खाद, बीज और एग्रीकल्चर मशीनरी से जुड़ी दुकानें और वर्कशॉप का समय बढ़ेगा
  • निजी वाहनों के लिए पेट्रोल-डीजल लेने का समय बढ़ेगा
  • निजी वाहनों को शर्तों के साथ अनुमति संभव
  • गर्मी के सीजन को देखते हुए इलेक्ट्रोनिक्स की दुकानों को खोलने की मंजूरी

Leave a Reply