सामंथा जेनकिंस की मां मारिया मॉर्गन ने उस भयावह घटना को याद किया और अपनी बेटी को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा, मुझे याद है जैसे कल की ही बात हो. मैं रसोई में चाय बना रही थी.

ब्रिटेन (Britain) में करीब 10 साल पहले एक लड़की की ज्यादा च्यूइंग गम (Chewing Gum) खाने से मौत (Death) हो गई. लेकिन इस घटना के सालों बाद भी लड़की की मां को अपनी बेटी की याद आती रहती है. यही वजह से उन्होंने सभी लोगों को चेतावनी देते हुए कहा है कि वे च्यूइंग गम खाने से परहेज करें. दक्षिणी वेल्स (South Wales) के फेलिनफोईल की रहने वाली 19 वर्षीय सामंथा जेनकिंस (Samantha Jenkins) की जून 2011 में अचानक मौत हो गई थी. मरने से पहले जेनकिंस ने पेट में दर्द की शिकायत की.

हालांकि, सामंथा तुरंत गिर पड़ी और कोमा में चली गई. इसके बाद उसकी मौत हो गई. डॉक्टरों को लगा कि उसे जहर दिया गया है. हालांकि, शव परीक्षण में उसके पेट में च्यूइंग गम के ‘चार या पांच चमकीले हरे गांठ’ का पता चला. वहीं, एक जांचकर्ता ने फैसला सुनाया कि सामंथा की अचानक हुई मौत के पीछे इसका हाथ हो सकता है. सामंथा की मृत्यु के 10 साल बाद, उसकी मां मारिया मॉर्गन ने उस भयावह घटना को याद किया और अपनी बेटी को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा, मुझे याद है जैसे कल की ही बात हो. मैं रसोई में चाय बना रही थी.

मां ने बताई दुख भरी दास्तां

मारिया बताती हैं कि वह बार-बार कह रही थी कि उसे अच्छा नहीं लग रहा है. मैं उससे कहा, तुम बहुत देर से धूप में हो, यहां आओ और थोड़ा पानी पी लो. आज दिन बहुत गर्म है, हो सकता है तुम्हें प्यास लगी होगी. मारिया ने कहा, मैंने उससे कहा कि जाओ और बिस्तर पर लेट जाओ और अपने साथ पानी की एक बोतल ले जाओ क्योंकि उसे धूप लग गई थी. तभी मैंने किसी के गिरने की आवाज सुनी. मैं और मेरी दूसरी बेटी ऊपर गए और हमने सामंथा को जमीन पर गिरा हुआ पड़ा पाया.

बेटी के कमरे में मिले च्यूइंग गम के दर्जनों बॉक्स

मारिया मॉर्गन ने बताया कि सामंथा को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे कोमा में रख दिया गया और वह फिर कभी नहीं उठ पाए. डॉक्टरों ने हमसे कहा कि उसे जहर दिया गया है. एक दिन मेरी दूसरी बेटी ने बताया कि सामंथा बहुत ज्यादा च्यूइंग गम खाती थी. इसकी जानकरी मैंने जांचकर्ता को दी. वहीं, जब परिवार ने सामंथा का कमरा चेक किया तो उन्हें दर्जनों च्यूइंग गम के पैकेट और बॉक्स मिले. इससे पता चला कि सामंथा हर रोज च्यूइंग गम खाती थी.

…तो ऐसे हुई मौत

दूसरी ओर, जब मारिया ने च्यूइंग गम पर रिसर्च किया तो वह यह जानकर डर गई कि इसमें खतरनाक एस्पार्टेम और सोर्बिटोल मौजूद होता है, जो शरीर के साल्ट को काफी कम कर देता है. मारिया ने बताया कि जांचकर्ता ने सीधे तौर पर ये नहीं माना कि सामंथा की मौत च्यूइंग गम की वजह से हुई, लेकिन मौत के पीछे कहीं न कहीं च्यूइंग का हाथ जरूर था. ऐसे में ये कहानी उन सबी लोगों के लिए एक सबक है, जो बड़ी मात्रा में च्यूइंग गम खाते हैं.

Leave a Reply