कोटा। शहर में आज फिर मौसम में बदलाव आया। सुबह तेज धूप व उमस के बाद अचानक मौसम का मिजाज बदल गया। तेज हवाओं को दौर शुरू हुआ जो बारिश पर जाकर थमा। शाम के समय अधिकांश क्षेत्रों में जोरदार बारिश हुई। कुछ स्थानों पर मेघ गर्जन के साथ हवा चली ओर झमाझम बारिश हुई। ओले भी गिरे है। 40 किलोमीटर रफ्तार से चली हवाओं ने अफरा तफरी मचा दी। कई इलाकों की बिजली गुल हो गई। थोड़ी देर तक तेज हवा संग तेज बारिश का दौर चला। फिर आसमान में काले बादल छा गए। लोग मौसम का लुत्फ उठाने के लिए छतों पर पहुंच गए। कोटा में तेज आंधी से बिजली तंत्र धराशाही हो गया। डीसीएम रोड स्थित विधुत प्रसारण निगम का 132 केवी का टावर (पोल) नीचे गिर गया। उसके वजन से निजी बिजली कम्पनी के 33 केवी के 3 पोल भी गिरे गए। 132 केवी से 33 केवी को बिजली सप्लाई होती है। इस कारण 3 त्रस्स् पर बिजली की आपूर्ति प्रभावित हुई। बिजली कम्पनी ने इधर उधर से सप्लाई लेकर कुछ इलाकों में बिजली आपूर्ति बहाल की। जबकि कई इलाकों में घंटों तक बिजली आपूर्ति सुचारु नहीं हो सकी, बिजली कर्मचारी मरम्मत के काम में जुटे रहे। तेज हवा से कई जगहों पर पेड़ ही उखड़ गए।शहर के छावनी व डीसीएम इलाके में बारिश के साथ ओले गिरे। तेज आंधी से रेलवे कॉलोनी थाना इलाके में सड़क किनारे बनी एक दीवार गिर गई। जिससे किनारे खड़ा एक 14 वर्षीय बालक दब गया। जिसको गंभीर अवस्था मे इलाज के लिए एमबीएस अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जानकारी के मुताबिक 14 वर्षीय बालक मोहम्मद नवाज अपने दो दोस्तों के साथ जा रहा था। बारिश से बचने के लिए वो दीवार के पास खड़े हो गए थे।
गांव में टीन टप्पर उड़े-हाडौती सम्भाग के कई ग्रामीण इलाकों में तेज हवा के साथ आंधी चली। घरों की छतों के टीन टप्पर ताश के पत्तों की तरह उड़ गए। आंधी से बिजली के पोल गिर गए। इससे बिजली आपूर्ति गड़बड़ा गई। कई जगह सूखे पेड़ भी धराशाही हो गए। सांगोद कस्बे में खेमजी कॉलोनी में एक मकान में लगे लोहे का टीन धराशाही हो गया। हालांकि कोई जनहानि नहीं हुई
झमाझम बारिश के साथ ओले भी गिरे-मौसम विभाग ने 29 से 30 मई तक तेज हवा व हल्की बारिश होने की चेतावनी जारी की थी। उसी के अनुसार हवा व बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार,अधिकतम तापमान 42.5 डिग्री व न्यूनतम तापमान 30.9 डिग्री सेल्सियस रहा।

Leave a Reply