तूफान की वजह से मौसम में आए बदलाव के बीच अब मॉनसून ने भी दस्तक देने की तैयारी कर ली है। मौसम विभाग की मानें तो इस सोमवार को मॉनसून केरल में दस्तक देगा। मॉनसून गुरुवार को मालदीव-कोमोरिन क्षेत्र के कुछ और हिस्सों, दक्षिण-पश्चिम और पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी, दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी के अधिकांश हिस्सों और पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में आगे बढ़ गया है।

भारतीय मौसम विभाग का कहना है कि केरल में 31 मई को मॉनसून के आगमन के लिए स्थितियां अनुकूल होती दिख रही हैं। आईएमडी के अनुसार, केरल में मानसून की शुरुआत की सामान्य तारीख 1 जून है, मगर यास की वजह से एक दिन पहले मॉनसून दस्तक दे सकता है, क्योंकि चक्रवात यास ने अरब सागर के ऊपर मॉनसून के प्रवाह को खींचने में मदद की है। हालांकि, बारिश के संभावित लेटेस्ट विवरण के साथ दूसरे चरण का मॉनसून पूर्वानुमान 31 मई को आईएमडी द्वारा जारी किया जाएगा।

इधर, चक्रवात यास अब कमजोर हो गया है मगर बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश में अपना असर दिखा रहा है। बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में लगातार तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। वहीं, झारखंड के मध्य भागों में अवसाद (यास के अवशेष) उत्तर की ओर बढ़ गया था और रांची (झारखंड) से लगभग 100 किमी उत्तर में और पटना से 150 किमी दक्षिण में स्थित था।

बिहार में यास के असर के रूप में गुरुवार से ही बारिश हो रही हैऔ र शुक्रवार को भी बिहार में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। गुरुवार और शुक्रवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश में, शुक्रवार को बिहार में और इसी अवधि के दौरान ओडिशा और छत्तीसगढ़ में भारी बारिश की संभावना है।

Leave a Reply