जयपुर। जयपुर की शास्त्री नगर थाना पुलिस ने आरपीएस को ब्लेकमेल करने के आरोप में महिला हेडकांस्टेबल को गिरफ्तार कर लियाराजस्थान पुलिस सेवा (आरपीएस) के एक अफसर को दुष्कर्म के मुकदमे में फंसाने की धमकियां देकर ब्लैकमेल कर 50 लाख रुपए की डिमांड करने का मामला सामने आया है। मामले में जयपुर की शास्त्री नगर थाना पुलिस ने मंगलवार को आरोपी महिला हेडकांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया। वह जोधपुर में पदोन्नती होने पर ट्रेनिंग करने गई थी। उसे वहीं से जयपुर लाया गया। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपी कौशल्या है। वह जयपुर में पदस्थापित है। उसके खिलाफ आरपीएस श्याम सुंदर ने गत 3 मई को शास्त्री नगर थाने में एक मुकदमा दर्ज करवाया था। जिसमें बताया कि वर्ष 2019 में आरपीएस की ट्रेनिंग के दौरान उसकी पहचान शास्त्री नगर में कांस्टेबल कौशल्या से हुई थी।
आर्थिक तंगी की कहानी सुनाकर स्कूटी की ऑनलाइन किश्त जमा करवाई, फिर उधार मांगे रुपए-आरपीएस का आरोप है कि कौशल्या ने अपनी आर्थिक तंगी की कहानी सुनाई। फिर अपनी गाड़ी की किश्त जमा करवाने में असमर्थ होने की बात कहकर मदद मांगी। तब श्यामसुंदर ने किश्त जमा करवा दी। इसके बाद कौशल्या और उसके पति ने घरेलू परिस्थितियां कमजोर बताकर मदद के बहाने रुपए उधार लिए।
आरपीएस का आरोप- 5.64 लाख रुपए दे चुका था, लौटाने को कहा तो दुष्कर्म का केस दर्ज करवाने की धमकी-आरपीएस का आरोप है कि पिछले साल अगस्त माह में कौशल्या और उसके पति के ज्वाइंट खाते में करीब 3 लाख रुपए ऑनलाइन ट्रांसफर किए। आरोप है कि अक्टूबर 2020 में रुपए लौटाने को कहा तब कौशल्या ने उसे दुष्कर्म के मुकदमे में फंसाने की धमकी दी और कहा कि यदि तुमको केस और बदनामी से बचना है तो 10 लाख रुपए दो। तब आरपीएस ने महिला के बैंक खाते में 2.10 लाख रुपए जमा करवाए। इसके बाद भी करीब 50 हजार रुपए उनके खाते में जमा करवाए।
दुष्कर्म की लिखित शिकायत भेजकर किया ब्लैकमेल, सोशल मीडिया पर मैसेज कर पहले 20 लाख और फिर 50 लाख की डिमांड-परिवादी श्यामसुंदर का कहना है कि कौशल्या ने तीन माह पहले एसपी बूंदी के नाम से लिखी एक शिकायत सोशल मीडिया पर भेजी। जिसमें पीडि़त पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया गया था। इसके बाद ब्लैकमेल कर पहले 20 लाख रुपए और फिर 50 लाख रुपए की डिमांड की। रुपए नहीं देने पर दुष्कर्म का केस दर्ज करवाने की धमकी दी। तब परेशान होकर गत 3 मई को श्यामसुंदर ने जयपुर पहुंचकर कौशल्या और उसके पति के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई। जिसमें रुपयों की डिमांड के मैसेज और ऑनलाइन रुपयों के ट्रांजेक्शन के सबूत दिए। तब पुलिस ने हेडकांस्टेबल कौशल्या को गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ जारी है।

Leave a Reply