जयपुर । देश के कई हिस्सों में नुकसान पहुंचा रहे चक्रवाती तूफान ‘तौकते’ के असर से राजस्थान के कई जिलों में 18-19 मई को भारी बारिश होने की सम्भावना है।

इसके मद्देनजर आपदा प्रबन्धन, सहायता एवं नागरिक सुरक्षा विभाग के प्रमुख सचिव आनंदकुमार ने संभागीय आयुक्तों और जिला कलक्टरों को एडवायजरी जारी कर तूफान से निपटने की तैयारी करने के निर्देश दिए हैं। पानी, बिजली व अन्य सम्बन्धित विभागों के कार्मिकों के अवकाश निरस्त करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि आपूर्ति में रुकावट न हो। जिला नियन्त्रण कक्ष को सक्रिय रखने, मौसम विभाग से प्राप्त चेतावनी को पंचायती राज संस्थाओं, नगरीय निकायों तक पहुंचाने के निर्देश दिए गए हैं।

एडवाइजरी में कहा गया है कि डीक्यूआरटी, नागरिक सुरक्षा, सर्च एवं रेस्क्यू टीमों को संसाधनों के साथ तैयार रखें। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ समन्वय स्थापित रखते हुए काम करें। विद्युत वितरण विभाग के अधिकारी तूफान से क्षतिग्रस्त विद्युत लाइनों को तुरन्त ठीक कराएं। जिलों में उपलब्ध डीजी सेट की मैपिंग कर बाधारहित विद्युत सप्लाई चालू रखना सुनिश्चित करें।

मौसम विभाग जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा के अनुसार 18 और 19 मई को इस चक्रवात का असर सबसे ज्यादा राजस्थान देखने को मिलेगा। सोमवार देर रात को यह गुजरात तट के आसपास पहुंचेगा। 19 मई से यह साउथ वेस्ट राजस्थान की ओर से प्रवेश करेगा। अरब सागर के ऊपर बने पश्चिमी विक्षोभ के दबाव के कारण चक्रवाती तूफान तौकते से बचाव और सतर्कता को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग ने अलर्ट जारी किया है।

यहां के लिए अलर्ट
मौसम विभाग के मुताबिक सोमवार को उदयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर संभाग के जिलों में 40-50 किमी. रफ्तार से हवाएं चलेंगी। बारिश की भी चेतावनी जारी की गई है। मंगलवार को भी 50-60 किमी से हवाएं चलेंगी। भारी बारिश के आसार है। बुधवार और गुरुवार को अजमेर, जयपुर, भरतपुर संभाग में अति बारिश के लिए अलर्ट जारी किया है।

Leave a Reply