एक नई बाइक खरीदने से भी मुश्किल काम पुरानी बाइक खरीदना है। सेकेंड हैंड बाइक लेते समय ग्राहक को इंटरनेट पर सही ऑप्शन चुनने से लेकर सही कीमत का अंदाजा लगाने और सभी डीटेल्स चेक करने जैसे ढेरों काम करने पड़ते हैं। कई बार अच्छे-अच्छे धुरंधरों को भी पुरानी बाइक लेते समय चूना लग जाता है। आज हम आपको कुछ ऐसी जरूरी बातें बता रहे हैं, जो पुराने बाइक लेते समय हर ग्राहक को ध्यान रखनी चाहिए। तो आइए शुरू करते हैं।

1. सबसे जरूरी चीज है कि आप यह तय कर लें कि आपको कैसी बाइक लेनी है। बाजार में अलग-अलग इंजन क्षमता और फीचर्स वाली ढेरों बाइक्स मौजूद है। आप यह भी पहले ही तय कर लें कि पुरानी बाइक लेने के लिए आपका बजट कितना है। ये दो बातें पता करने के बाद ही इंटरनेट या बाजार में मौजूद बाइक्स के ऑप्शन को देखना शुरू करें। 

2. इंटरनेट पर पुरानी बाइक देखते समय डीटेल्स को ध्यान से पढ़ें। ओडोमीटर रीडिंग्स और इंश्योरेंस जैसी जानकारी के अलावा कई बिक्रेता बाइक में कराई गई मोडिफिकेशन की जानकारी भी लिखे रहते हैं। वाहन के बारे में आप जितना जान लेंगे उतना अच्छा होगा। बाइक की सभी तस्वीरों को भी ध्यान से देखें। यह भी चेक करें किं कहीं कोई डैमेज तो नहीं है। इसके बाद ही उसे फिजिकली देखने जाएं। अगर रजिस्ट्रेशन नंबर उपलब्ध है तो Vahan पोर्टल पर मालिक का नाम और चालान की जानकारी भी चेक कर लें। 

3. बाइक पसंद आ जाने के बाद ऑनर से इसके डॉक्यूमेंट्स की जानकारी लें। बाइक कितने समय से उनके पास है, कितनी चल गई है और क्यों बेच रहे हैं, ऐसे कुछ सवाल जरूर पूछें। बाइक को फिजिकली पूरी तरह चेक कर लें। 

4. बाइक खरीदने से पहले कम से कम 5-10 किलोमीटर चलाकर जरूर देखें। इससे आपको बाइक की परफॉर्मेंस, इंजन और ब्रेकिंग का अंदाजा मिल जाएगा। इसके साथ ही बाइक की हेडलाइट, इंडिकेटर्स, हॉर्न, टायर कंडिशन, ब्रेक्स जैसे पार्ट्स को भी चेक कर लें। हो सके तो अपने साथ किसी भरोसे के मैकेनिक को भी लेकर जाएं। 

5. सभी कागजातों को ध्यान से चेक करें। यह वेरिफाई जरूर कर लें कि बाइक के पेपर्स में मौजूद व्हीकल आइडेंटिफिकेशम नंबर और इंजन नंबर मैच कर रहे हैं या नहीं। अगर इंश्योरेंस चल रहा है तो इंश्योरेंस नंबर से क्लेम की जानकारी भी ले लें। इससे पता लग जाएगा कि बाइक का एक्सिडेंट तो नहीं हुआ है। 

Leave a Reply