कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर दिल्ली के कई इलाकों में पीएम मोदी की आलोचना वाले पोस्टर लगाने के मामले में दिल्ली पुलिस का एक्शन जारी है. दिल्ली पुलिस ने अबतक 25 एफआईआर दर्ज की हैं. पोस्टर लगाने के मामले में एक दर्जन से ज़्यादा लोग गिरफ्तार हो किए जा चुके हैं. गिरफ्तार होने वालों में मजदूर तबके के लोग हैं. रिक्शावाले के साथ ही प्रिंटिंग प्रेसवाले को भी गिरफ्तार किया गया है.

दिल्ली के कल्याणपुरी इलाके से चार मजदूरों को गिरफ्तार किया गया था. इन लोगों को पोस्टर लगाने के लिए दिए गए थे.  इसके एवज में उन्हें पैसे मिल रहे थे. उनका कहना है कि उन्हें नहीं मालूम किसने पोस्टर लगाने को कहा था. उन्हें पोस्टर मिला और वो लगा रहे थे.

ये पोस्टर दिल्ली के खजूरी, कल्याणपुरी,  दयालपुर, भजनपुरा, मंगोलपुरी, पुरानी दिल्ली, ख्याला, मोती नगर, कीर्ति नगर, मंगोलपुरी, निहाल विहार, रोहिणी, कल्याणपुरी और एम एस पार्क में लगाए गए थे. पोस्टर में लिखा था, ”मोदी जी आपने हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेज दी”. लगाए गए ब्लैक पोस्टर पर सिर्फ ये ही लाइन लिखी थीं.पोस्टर पर छापने वाले के नाम भी नहीं था.

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में PDPP एक्ट, IPC 188 और प्रेस एंड रजिस्ट्रेशन बुक एक्ट के तहत केस दर्ज किया है. पुलिस ने कई जगहों से होर्डिंग्स और पोस्टर भी बरामद किए हैं. पुलिस को जांच में पता चला है की ये पोस्टर राजनीतिक पार्टी द्वारा लगाए गए हैं.जिसकी जांच की जा रही है.

पोस्टर लगाने को लेकर हो रही गिरफ्तारियों  पर सियासत गरमा गई है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने भी अपने ट्विटर हैंडल से पीएम मोदी के खिलाफ लगे पोस्टर साझा करते चैलेंज दिया है कि हमें भी गिरफ्तार करो. प्रियंका गांधी ने तो  ट्विटर पर अपनी प्रोफाइल पिक हटाकर उसकी जगह उसी पोस्टर को लगा दिया है.

Leave a Reply