कोटा 16 मई । जीवण आशीष समिति कोटा द्वारा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में समन्वित भोजन के महत्व को प्रतिपादित करने हेतु एक वर्चुअल सेमिनार का आयोजन किया गया। सेमिनार में मुख्य वक्ता त्रिलोक सिंह टी टी कालेज लक्ष्मणगढ़ की असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ खुश्बू गुप्ता ने स्लाइड शो के माध्यम से ‘सन्तुलित आहार से रोगप्रतिरोधक क्षमता’ बढ़ाने वाले शाकाहारी भोजन के महत्व पर विस्तार से जानकारी दी।

आहार एवं पोषण विशेषज्ञ डॉ खुश्बू गुप्ता ने बताया कि प्रकृति ने हमें रंग बिरंगे भोज्य पदार्थ जैसे कि फल सब्जी, मेवे और अन्न दिये है जिन्हें हमें सन्तुलित मात्रा में अपने भोजन में नियमित रूप से समय समय पर ग्रहण करना चाहिए।

अपनी वार्ता में डॉ खुश्बू ने कहा कि कोविड विभीषिका में जहां आक्सीजन सेचुरेशन कम हो रहा है ऐसे में हमारे भोजन में ‘ओरेक’ खाद्य सामग्री सम्मिलित होने चाहिए।
सेमिनार में जहां लाॅयन्स क्लब कोटा साउथ की पूर्व अध्यक्ष लायन श्रीमती कुसुम गुप्ता, हेमांगी अर्कशाली, विजय प्रकाश इत्यादि ने अपनी शंकाओं का समाधान पूछा वही के वी के जैसलमेर से डाॅ चारू, श्योपुर जिले की कोविड मेनेजमेंट कमेटी सदस्य गिरिराज सर्राफ विशेष रूप से उपस्थित रहे। इन्जिनियर सौरभ गुप्ता ने सेमिनार का सफल संचालन किया।

अन्त में जीवण आशीष समिति के महामंत्री डॉ लोकमणि गुप्ता ने आक्सीजन कन्सन्ट्रेटर के उपयोग में रखने वाली सावधानियों की जानकारी देते हुए उपस्थित सभी प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया।

Leave a Reply