कोटा 11 मई (देश न्यूज़)। सहायक औषधि नियंत्रक प्रहलाद मीणा ने बताया एक तीमारदार ने शिकायत की थी। उसने बताया था JK लोन अस्पताल के सामने स्थित ए जेड फार्मा पर 1200 रुपए के ऑक्सीजन रेगुलेटर के 5000 रुपए लिए जा रहे हैं। शिकायत पर ड्रग विभाग की टीम ने बोगस ग्राहक भेजा। बोगस ग्राहक को 5000 रुपए दिए। इस दौरान टीम ने नोट के नम्बर लिख लिए ।

बोगस ग्राहक मेडिकल स्टोर पर पहुंचा। उसने मेडिकल स्टोर पर 5000 रुपए देकर ऑक्सीजन रेगुलेटर खरीदा। इसके बाद ड्रग विभाग की टीम ने मेडिकल स्टोर पर छापा मारा। नोट के नम्बर वेरीफाई किए तो वो ही नोट निकले। प्रह्लाद मीणा ने बताया कि मेडिकल स्टोर संचालक के पास ऑक्सीजन रेगुलेटर के बिल भी नहीं मिले। वो बिना बिल के हैं, ऑक्सीजन रेगुलेटर बेच रहा था। आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कालाबाजारी करने के कारण मामले की सूचना DSO को दी है।

Leave a Reply