कोटा जिले में सोमवार को दुष्कर्म के एक आरोपी ने शिकायतकर्ता से पुलिस थाने में शादी कर ली। यह जानकारी पुलिस ने दी। दोनों ने पुलिस के हस्तक्षेप की मदद से समझौता किया और उसके बाद शादी का फैसला किया।

कोटा (ग्रामीण) के पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी ने बताया कि रामगंज मंडी पुलिस थाने परिसर स्थित मंदिर में हुई शादी के दौरान लड़की का भाई और लड़के का पिता मौजूद था और वर-वधू ने एकदूसरे को वरमाला पहनाकर शादी की।

पुलिस ने बताया कि इस महीने की शुरुआत में पीड़िता ने पड़ोसी मोतीलाल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा-376 के तहत दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई थी। दोनों के बीच कथित तौर पर प्रेम संबंध था और मोतीलाल द्वारा शादी से इनकार करने के बाद लड़की ने पुलिस में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी।

चौधरी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और यह शादी कोविड-19 संबंधी दिशानिर्देशों का अनुपालन करते हुए कराई गई। रामगंज मंडी थाने के प्रभारी हरीश भारती ने बताया कि मामला अदालत में विचाराधीन है। इस बीच, रामगंज मंडी के उप डिविजनल मजिस्ट्रेट बालकिशन तिवारी ने कोविड-19 के मद्देनजर जोड़े को शादी समारोह आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार किया।

Leave a Reply