कोटा. शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए पुलिस ने अब सख्त कदम उठाने का निर्णय किया है। सोमवार को कलक्ट्रेट स्थित टैगोर सभागार में पुलिस अधिकारियों की बैठक में बेवजह घूमने वाले लोगों को संस्थागत क्वारंटीन करने का निर्णय किया।

बैठक में एसपी डॉ. विकास पाठक ने जन अनुशासन पखवाड़े की गाइडल लाइन पालना की समीक्षा की और अधिकारियों को सख्ती से पालना के साथ प्रभावी कार्रवाई करने के आदेश दिए। उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों व थानाधिकारियों को निर्देश दिए की शहर में सभी चेकपोस्ट पर वाहनों को जांच के बाद ही जाने देवें। साथ ही कोरोना संक्रमण की चैन तोडऩे के लिए बाजारों में भी गाइड लाइन की पालना सख्ती से की जाए।

दोपहर 12 बजे बाद नहीं घूम सकेंगे लोग
एसपी ने बताया कि रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़े की पालना भी सख्ती से करवाई जाएगी। अब पुलिस शहर में दोपहर 12 बजे बाद अनावश्यक घूमने वाले लोगों को पकड़कर आइसोलेट किया जाएगा और कोरोना की जांच करवाई जाएगी। आइसोलेट लोगों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ही उन्हें छोड़ा जाएगा। बैक में एएसपी प्रवीण जैन सहित उपाधीक्षक व थानाधिकारी उपस्थित रहे।

पहले दिन 60 लोग संस्थागत क्वारंटीन
एएसपी प्रवीण जैन ने बताया कि निर्धारित समयावधि के बाद बिना कारण घूमते पाए जाने पर 60 व्यक्यिों को क्वारंटीन सेन्टर सोफिया सीनियर सैकण्डरी स्कूल वल्लभनगर में रखा गया है। जहां उनके स्वास्थ्य की जांच व आरटीपीसीआर जांच करवाई जाएगी।

Leave a Reply