राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के जेल से बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है। लालू समेत जेल में बंद सैकड़ों लोगों को राहत मिली है। अब इन लोगों को बेल बांड, मुचलके की राशि और अन्य कागजी प्रक्रिया पूरी करने के लिए वकील अदालत में जा सकेंगे। बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने बुधवार को यह आदेश दिया है। आदेश की प्रति सभी राज्यों के बार कौंसिल को भेज दी गयी है। झारखंड बार काउंसिल को भी आदेश मिल गया है। 

बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने कहा है कि कई राज्यों के बार काउंसिल ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए वकीलों को अदालती प्रक्रिया में शामिल नहीं होने का आदेश जारी किया है। ऐसे में वैसे लोगों को परेशानी हो रही है जिन्हें जमानत मिल गयी है और बेल बांड, मुचलका और अन्य कागजी प्रक्रिया पूरी नहीं हो रही है। इस कारण वह जमानत मिलने के बावजूद जेल में ही है। 

Leave a Reply