अजमेर। अजमेर जिले में ब्यावर में मंगलवार को दिल दहला देने वाला मामला सामने आया। यहां कोरोना से पति की मौत की खबर सुनकर पत्नी ने भी जहर खाकर जान दे दी। दंपती के 7 और 11 साल के दो बच्चे थे, जो कि अब दादा-दादी के सहारे रह गए हैं। मामला राजियावास गांव का है। यहां रहने वाले देवीसिंह (40) की कोरोना से मौत हो गई। पति की मौत की खबर सुनकर पत्नी लक्ष्मी (35) ने भी कीटनाशक पीकर जान दे दी। मृतक देवीसिंह भाजपा का मंडल उपाध्यक्ष था। वह भीलवा?ा पावर हाउस में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता था। दंपती के दो बच्चे बेटा रचित (7) और बेटी दीक्षा (11) है। दोनों की करीब 12 साल पहले शादी हुई थी। ग्राम पंचायत सरपंच ब्रजपाल सिंह ने बताया कि देवीसिंह मेहरात एक सप्ताह पहले ही गांव लौटा। सांस लेने में तकलीफ होने पर उसने जांच कराई तो वह कोरोना पॉजीटिव निकला। सोमवार शाम को तबीयत ज्यादा खराब होने पर वह खुद ही ब्यावर चला गया। वहां राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय में भर्ती हुआ। जहां सुबह उसकी मौत हो गई।
घर वालों को मिली मौत की सूचना-अस्पताल की ओर से देवीसिंह की मौत की खबर घर वालों को दी गई। परिजन ब्यावर के लिए रवाना होने लगे। इस दौरान उसकी पत्नी लक्ष्मीदेवी ने जब पूछा तो घर वालों ने बताया कि देवीसिंह की तबीयत खराब हो गई है और उसे जयपुर ले जाने के लिए जा रहे हैं। इस पर वह भी साथ चलने की जिद करने लगी। जब उसे मना किया तो उसे शक हो गया।
जहर खाकर पत्नी ने दे दी जान-पति की मौत का पता चलते ही पत्नी लक्ष्मी बदहवास हो गई। वह घर के अन्दर गई और खेत में छिड़काव के लिए लाए गए कीटनाशक को पी लिया। बाद में घर वालों ने कीटनाशक छीना और उसे तुरन्त अस्पताल पहुंचाया। लेकिन वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शव परिजन को सौंप दिए। पुलिस मामले की जांच कर रही है।मृतक के एक भाई और माता-पिता हैं। भाई अलग रहते हैं। माता-पिता देवीसिंह के साथ ही रहते थे।
======

========

Leave a Reply