बीते दिन 50 हजार से कम कोरोना के मामले सामने आने के बाद मंगलवार को फिर से महाराष्ट्र में 60 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। इन सबके बीच भयभीत करने वाली यह बात है कि पिछले एक दिन में तकरीबन 900 लोगों की मौत हो गई है, जोकि एक रिकॉर्ड है। महाराष्ट्र में एक मई तक उद्धव सरकार ने लॉकडाउन जैसी पाबंदियों का ऐलान कर रखा है। हालांकि, इन सबके बीच राजधानी मुंबई में पिछले कुछ दिनों से लगातार मामले कम हो रहे हैं, लेकिन बीते दिन से आज ज्यादा केस सामने आए हैं।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र में आज 66,358 नए मामले सामने आए थे। इसके अलावा 895 लोगों की जान चली गई। आज डिस्चार्ज होने वालों की संख्या 67,752 है, जबकि कुल मामलों की संख्या बढ़कर    44,100,85 हो गई है। वहीं, राजधानी मुंबई में बीते 24 घंटे में मुंबई में 4014 नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही बीते 24 घंटे में 8200 से अधिक मरीजों ने कोरोना को मात दी है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटे में 30428 सैंपल की जांच की गई है। इनमें 4014 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके साथ ही देश की आर्थिक राजधानी में कोरोना का आंकड़ा 53,02,490 हो चुका है। पूरे मुंबई जिला में कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों का दर 87 प्रतिशत है।

वहीं, राज्य के ठाणे जिले में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,102 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 4,53,689 हो गई है। एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि ये नए मामले सोमवार को सामने आए। इसके अलावा 58 रोगियों की मौत के बाद मृतकों की तादाद 7,336 हो गई है। उन्होंने कहा कि ठाणे में कोविड-19 से मृत्यु दर 1.62 प्रतिशत है। महाराष्ट्र में हो रहीं मौतों के बीच दर्दनाक मामला तब सामने आया  जब बीड़ में कोविड-19 से जान गंवाने वाले 22 लोगों के शवों को एक ही एंबुलेंस में भरकर श्मशान ले जाया गया। जिला प्रशासन ने एंबुलेंस की कमी को इसका एक कारण बताया है।

Leave a Reply