मुंबई के नगर निकाय की ओर से किए एक सीरो सर्वे में पाया गया है कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए महिलाओं में पुरुषों की तुलना में अधिक एंटीबॉडी है।

अधिकारियों ने कहा कि इसने यह भी दिखाया कि गैर-स्लम क्षेत्रों में सीरो सकारात्मकता बढ़ रहा था, जबकि यह स्लम क्षेत्रों में घट रहा था, जो कि वर्तमान प्रवृत्ति से मेल खाता है जिसमें बड़ी संख्या में वर्तमान में कोविड-19 के रोगी हैं।

एक अधिकारी ने व्याख्या की कि ब्लड टेस्ट में सीरो पॉजिटिविटी एक विशेष एंटीबॉडी के लिए सकारात्मक परिणाम दिखाती है। 

बृहन्मुंबई नगर निगम के सर्वेक्षण में शनिवार को यह पता चला कि सीरो सकारात्मकता महिलाओं में 37.12 प्रतिशत भी जबकि पुरुषों में 35.02 प्रतिशत थी।

एक अधिकारी ने बताया, ‘सैंपलों को बीएमसी के कस्तूरबा अस्पताल के मॉलिक्यूलर बायोलॉजी लैबोरेटरी में जांचा गया। बीते साल जुलाई में किए गए पहले सर्वे में स्लम इलाकों में 57 प्रतिशत सीरो पॉजिटिविटी पाई गई थी। वहीं, अगस्त में किए सर्वे में 45 प्रतिशत पॉजिटिविटी थी।

Leave a Reply