कोरोना वायरस की दूसरी लहर की वजह से रोजाना बड़ी संख्या में मामले सामने आ रहे हैं। पिछले दो दिनों से देश में इतने मामले सामने आए हैं, जितने अभी तक किसी देश में नहीं मिले थे। संक्रमण की इस लहर को रोकने के लिए केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकारें जुटी हुई हैं। कुछ राज्य सरकारों ने वीकेंड लॉकडाउन, लॉकडाउन समेत कई तरह की पाबंदियों का ऐलान किया है। महामारी के इस समय में गरीबों को भोजन की समस्या से दो-चार न होना पड़े, इसके लिए केंद्र सरकार ने अहम कदम उठाया है। एक बार फिर से मोदी सरकार ने गरीबों को मुफ्त में राशन मुहैया करवाने का ऐलान किया है। 

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत केंद्र सरकार गरीबों के मई और जून 2021 के महीने में मुफ्त में राशन मुहैया करवाएगी। इस योजना के तहत दो महीनों में जनता को पांच किलो राशन दिया जाएगा। मुफ्त में राशन मिलने से तकरीबन 80 करोड़ लोगों को फायदा मिलेगा। सरकार ने पिछले साल भी कोरोना की लड़ाई से निपटने के दौरान, गरीबों को मुफ्त में राशन मुहैया करवाया था। 

केंद्र सरकार की ओर से जारी बयान के अनुसार, गरीबों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कमिटमेंट को देखते हुए भारत सरकार ने 80 करोड़ लाभार्थियों को मुफ्त में राशन सामग्री मुहैया कराने का फैसला लिया है। इसी तरह से पिछले साल भी पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत राशन मुहैया करवाया गया था। सरकार ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी ने जोर देकर कहा है कि जिस समय देश कोरोना वायरस की दूसरी लहर का सामना कर रहा है, उस समय महत्वपूर्ण है कि गरीबों को पोषण मिल सके। केंद्र सरकार इस योजना के तहत तकरीबन 26 हजार करोड़ रुपये खर्च करेगी।

उल्लेखनीय है कि देश में कोरोना महामारी लगातार भयावह रूप लेती जा रही है। एक दिन में रिकॉर्ड 3.32 लाख से अधिक नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,62,63,695 हो गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शुक्रवार तक के आंकड़ों के मुताबिक 24 लाख से अधिक लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 2,263 और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 1,86,920 पर पहुंच गई है। देश में पिछले 24 घंटों में 3,32,730 नए मामले दर्ज किए गए।

Leave a Reply