कोरोना की घातक दूसरी लहर के चलते हर तरफ ऑक्सीजन सिलेंडरों की किल्लत व भारी मांग के चलते इसकी कालाबाजारी जोरों पर है। इस बीच कोटा ग्रामीण के रामगंजमंडी में बुधवार देर रात करीब 11 बजे दो युवकों ने चोरी-छिपे दो दुकानों पर 35 ऑक्सीजन सिलेंडर उतार दिए। पुलिस को खबर लगी तो पीछा कर दोनों को पकड़ा। दोनों कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए थे। पुलिस जांच जारी है ।

कोटा ग्रामीण एसपी शरद चौधरी ने बताया कि ट्रक चालक के पास कोई विशेष दस्तावेज नहीं मिले हैं। प्रारंभिक पड़ताल में यह सामने आया है कि यह सिलेंडर चित्तौड़ से लाया था और झालावाड़ मेडिकल कॉलेज ले जा रहा था। लेकिन, यह सिलेण्डर उसने रामगंजमंडी की दो दुकानों पर गुपचुप तरीके से उतार दिए थे।

जिसके बाद वह वहां से भाग गया इसी दौरान गोपनीय सूत्रों से पुलिस को जानकारी मिली और रामगजंमंडी सीआई हरीश भारती की टीम ने पिकअप वाहन को पकड़ लिया। पुलिस ने वाहन और ऑक्सीजन गैस सिलेण्डर जब्त कर लिए हैं।

बिल, बिल्टी और दस्तावेजों की जारी है जांच: प्रारंभिक तौर पर यह जानकारी सामने आई है कि इन सिलेंडरों को झालावाड़ मेडिकल कॉलेज ले जाया जा रहा था। लेकिन, दस्तावेजों में इसकी पुष्टि फिलहाल नहीं हो सकी है। रामगंजमंडी सीआई हरीश भारती का कहना है कि यह सिलेंडर सरकारी सप्लाई में आए थे या यह खुद खरीदकर कालाबाजारी को लाए.. यह दोनों तथ्य अभी क्लियर नहीं हो पाए हैं।

चित्तौड़ से लाए सिलेण्डर, ज्यादा दाम पर बेचना चाहते थे

पुलिस सूत्रों के अनुसार मामले में दो युवक जाकिर (23) पुत्र अब्दुल अजीज निवासी गरीब नवाज कॉलोनी रामगंजमंडी और नानेज मराठा (47) पुत्र देवीलाल निवासी बाजार नंबर 2 को हिरासत में लिया गया है, जिनसे पुलिस पूछताछ कर रही है। प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है कि मुख्य आरोपी नानेज मराठा है और इसकी यहां पर दुकान भी है। वो यहां पर सिलेंडर उतारकर इनको ज्यादा दामों पर बेचना चाहता था।

Leave a Reply