लखनऊ, 11 अप्रैल । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के उपचार की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोरोना के खिलाफ जारी इस जंग में पिछले वर्ष प्रदेश के सभी जनपदों ने कोविड प्रबन्धन का बेहतरीन उदाहरण प्रस्तुत किया था। इस बार भी हम टीम वर्क के साथ सभी के सहयोग से इस लड़ाई में जीत जरूर हासिल करेंगे।

एक से 12 तक विद्यालय 30 अप्रैल तक बंद
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि जिन जनपदों में प्रतिदिन कोरोना के 100 या उससे अधिक केस मिल रहे हैं या जहां कुल एक्टिव केसों की संख्या 500 से अधिक है, ऐसे जनपदों में रात्रि 09 बजे से सुबह 06 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगाया जाए।
उन्होंने कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए कक्षा 01 से कक्षा 12 तक के सभी सरकारी तथा गैर सरकारी विद्यालयों को 30 अप्रैल तक बन्द रखने का निर्देश भी दिया है। हालांकि, पूर्व निर्धारित परीक्षाएं आयोजित की जायेंगी।। उन्होंने कहा कि इस अवधि में कोचिंग सेन्टर्स भी बन्द रहेंगे।

मुख्यमंत्री रविवार को अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए ‘टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट’ के लक्ष्य को निरन्तर ध्यान में रखते हुए प्रभावी प्रयास किए जाएं। कोविड-19 की टेस्टिंग में वृद्धि की जाए। आरटीपीसीआर विधि से प्रतिदिन 01 लाख टेस्ट किए जाएं। व्यापक काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आए हुए कम से कम 30 से 35 लोगों को ट्रेस करते हुए इनका शत-प्रतिशत कोविड टेस्ट किया जाए।

Leave a Reply