कोटा। शहर में बैंकों के आस-पास ही ठगी करने वाला गिरोह सकिय है, जो बैंक ग्राहकों को किसी न किसी तरह बहकाकर ठगी कर रहे हैं। गुमानपुरा थाना क्षेत्र में गुरुवार को एक बैंक परिसर में ग्राहक से 25 हजार 500 रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। इस वारदात में बदमाश सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है। आरोपियों की तलाश का काम विशेष टीम को सौंप दिया गया है। शराब ठेकेदार इमाम ने बताया कि उसकी सब्जीमंडी में शराब की दुकान है। गुरुवार दोपहर वह कोटड़ी स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा में चालान जमा करवाने गया था। उसने एक लाख 34 हजार रुपए का चालान भरा और जमा करवाने के लिए कतार में लग गया। कैश जमा कराने का नम्बर आया तो कैशियर ने पर्ची में कमी बताते हुए दूसरी फर्ची भरने को कहा। यह बात उसके पास खड़े एक शातिर ठग ने सुन ली। इमाम बैंक के अंदर रखी कुर्सी पर बैठ चालान की पर्ची भर रहा था। इसी दौरान वह ठग उसके पास आया और बोला पर्ची गलत भर रहे हो। उसने कहा कि चालान नोटों के नंबर से जमा होंगे। ठग ने उससे नोटों की गड्डियां को लिया और उनका रबर तोड़ दिया और नोट गिनने का नाटक करने लगा। इमाम ने गड्डी खोलने पर विरोध जताया। इस दौरान आरोपी ने गड्डी में से पांच-पांच सौ के 51 नोट गायब कर उसे नोट थमा दिए और वहां से रफूचक्कर हो गया। नोट गिनने पर 51 नोट कम मिले। इस पर उसे ठगी का पता चला। इस बारे में बैंक कर्मचारियों और अधिकारियों को शिकायत की तो उन्होंने पुलिस में सूचना देने को कहा। इसके बाद उसने गुमानपुरा थाने में ठगी की शिकायत दी। थानाधिकारी मनोज कुमार सिकरवार ने बताया कि शिकायत के बाद जांच शुरू कर दी है। बैंक में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों की जांच की गई। जांच में बैंक के बाहर दो संदिग्ध युवक नजर आ रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले दिनों भी इसी तरह का एक मामला आया था, जिसमें आरोपी को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया था।

Leave a Reply