देश न्यूज
कोटा। पशुबलि मामले में जांच के बाद ग्रामीण एसपी ने देवलीमांझी धानाधिकारी को निलंबित कर दिया है। एसपी शरद चौधरी ने बताया कि गुरुवार को सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो को राजस्थान पुलिस हेल्प डेस्क व पुलिस उच्चाधिकारियों को टेग किया गया और पशुबलि देने वाले को देवलीमांझी थानाधिकारी बताया गया था। वायरल वीडियो के मामले में सांगोद उपाधीक्षक को चांज सौंपी गई थी। जांच में प्रथम दृष्टया पशु बलि में देवली मांझी थानाधिकारी पर लगाए आरोप प्रमाणित पाए जाने पर शुक्रवार को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर मुख्यालय पुलिस लाइन जिला कोटा ग्रामीण किया गया है। साथ ही घटना बारां के कस्बाथाना की होने पर पुलिस अधीक्षक बारां को आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए पत्राचार किया जाएगा। गौरतलब है कि गुरुवार को सोशल मीडिया पर पशुबलि प्रथा का वीडियो वायरल हुआ जिसमें कोटा ग्रामीण पुलिस की नींद उड़ गई थी। वीडियो में ग्रामीण परिदृश्य में एक धार्मिक स्थल पर बकरे की बली दी जा रही है। वीडियो वायरल होने के बाद कोटा ग्रामीण एसपी ने सांगोद पुलिस उपाधीक्षक रामेश्वर परिहार को जांच सौंपी थी।

Leave a Reply