कोटा 24 फरवरी । कोटा में सड़कों के चौड़ीकरण और विस्तार तथा पार्किंग स्थलों के निर्माण कार्य तेजी से किए जा रहे हैं। पुराने शहर कोटा की सकड़ी सड़कों के भी दिन फिरने वाले हैं। इस क्रम में आर्य समाज रोड तथा लाडपुरा में कई ऐसे स्थान, संस्थान अथवा दुकानें चिन्हित की गई है जिन्हें तोड़ने के लिए यूआईटी कोटा ने तैयारी कर ली है। उच्च पदस्थ सूत्र के मुताबिक प्रभावित लोगों का मुआवजा तथा पुनर्वास भी समुचित और संतोषजनक तरीके से किया जाएगा। पुराना कोटा अर्थात कोटा उत्तर स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल का निर्वाचन क्षेत्र है।
लाडपुरा मे कर्बला रोड तिराहे पर स्व. रामजीवन सराफ वाले मकान के सामने कौने का मकान आवासीय कम व्यवसायिक है। इसको यूआईटी एक्ट की धारा 51 के तहत अधिग्रहण करने पर मुहर लगा दी गई है। अब यह मामला राज्य सरकार को भेजा गया है। इस मकान को तोड़ दिए जाने से कल्लू मल पुत्र चुहडमल का महेश जनरल स्टोर, रमेश भावनानी का जनरल जनरल स्टोर, नरेंद्र पांचाल का बंटी स्टोर, तथा तत्कालीन जनसंघ भाजपा के पुराने नेता स्वर्गीय तुलसीराम का राष्ट्रीय टेलरिंग हाउस चल रहे हैं। जिन्हें वैकल्पिक पुनर्वासित किया जाएगा। इसके अलावा असलम की भी एक दुकान है जबकि एक दुकान यहां बंद है, उसे भी तोड़ा जाएगा। मकान का यूआईटी की धारा 51 मे अधिग्रहण करने के आदेशों की पालना में यह कार्रवाई की जा रही है। लाडपुरा में ही बीनबाजा जहां पर देवस्थान विभाग का दफ्तर है। इस रियासत कालीन इमारत के बाहर एक बड़ा टीलानुमा चबूतरा ध्वस्त कर दिया गया है। लाडपुरा का कर्बला मोहल्ला वह स्थान है जहां पुराने कोटा के टिपटा, घंटाघर आदि क्षेत्रों मोहर्रम के जुलूस पहुंचते हैं। और चंबल तट को छूते घाटों पर ताजिए ठंडे किए जाते हैं। कर्बला में प्रवेश तिराहे पर लगभगआधा दर्जन दुकानें और तुलसीराम के मकान को तोड़ा जाकर यह तिराहा चौड़ा किया जाएगा।
रामपुरा बाजार में आर्य समाज रोड की ओर से प्रवेश मार्ग को चौड़ा करने के लिए आठ व्यवसायिक दुकानें, गोदाम आदि को ढहा दिया जाएगा। इनमें महेंद्र सेव भंडार और उसका गोदाम, श्रीनाथ पेठा, सुमन भारती केटर्स, नरेंद्र एंटरप्राइजेज, मनीष कार्ड, मनीष की कार्ड शॉप शामिल है। महेंद्र सेव भंडार व गोदाम वह मकान है जिसमें किसी जमाने में राजस्थान हाईकोर्ट के पूर्व जस्टिस और कांग्रेस नेता पानाचंद जैन सपरिवार निवास करते थे। यह एक हवेलीनुमा मकान है। महेंद्र सेव भंडार प्रसिद्ध फूलचंद कचोरी वाले के परिवार का है। नगर विकास न्यास के उच्च पदस्थ सूत्र का कहना है कि सुव्यवस्थित यातायात हेतु स्वायत्त शासन मंत्री के निर्देशों के अनुसार यह कार्रवाई की जानी है।

Leave a Reply