देश न्यूज
जयपुर। उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर मुख्यमंत्री के बयान पर पलटवार किया है। राठौड़ ने लगातार दो ट्वीट करते हुए लिखा कि प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार ने 26 महीने के शासन में पेट्रोल पर 12 और डीजल पर 10 प्रतिशत वैट बढ़ाया है, जिसकी वजह से प्रदेश में पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। राठौड़ ने उन तारीखों और बढ़ाई की वैट दरों का भी अपने ट्वीट में उल्लेख किया है। राठौड़ ने पहले ट्वीट में सीएम की तरफ इशारा करते हुए लिखा कि अशोक गहलोतजी आपकी सरकार ने 26 माह के शासन में 4 बार पेट्रोल पर 12 और डीजल पर 10 प्रतिशत वैट की बढ़ोतरी की है। राठौड़ ने तारीख बताते हुए लिखा कि 5 जुलाई 2019 को पेट्रोल-डीजल पर 4 प्रतिशत, 21 मार्च 2020 को पेट्रोल-डीजल पर फिर 4 प्रतिशत, 15 अप्रेल 2020 को पेट्रोल-डीजल पर 2 व एक प्रतिशत और 7 मई 2020 को पेट्रोल-डीजल पर 2 व एक प्रतिशत वैट की बढ़ोतरी की है। अपने ट्वीट में राठौड़ ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ट्वीट को भी जोड़ा है। आपको बता दें कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पेट्रोल और डीजल के दामों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने कहा कि एक्साइज ड्यूटी ज्यादा होने की वजह से कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा शासित मध्य प्रदेश में पेट्रोल पर सर्वाधिक टैक्स है, इसके बाद भी कुछ लोग अफवाह फैलाते हैं कि राजस्थान सरकार पेट्रोल पर सबसे ज्यादा टैक्स लगाती है।
दूसरे ट्वीट में राठौड़ ने लिखा कि पेट्रोल—डीजल पर वैट में अभूतपूर्व बढ़ोतरी और रोड सैस लगाकर आमजन पर महंगाई को बोझ बढ़ाने वाले मुखिया अशोक गहलोत जी का बयान हास्यास्पद व जले पर नमक छिड़कने वाला है। वास्तविकता यह है कि ऊंट के मुंह में जीरा समान वैट में कमी करके वह महज दिखावटी चिंता व्यक्त कर रहे हैं।

Leave a Reply