उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक महिला के द्वारा प्रोफेसर को ब्लैकमेल कर 10 लाख रुपये की रकम मांगने की घटना सामने आई है. आरोप है कि महिला ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर प्रोफेसर के साथ लूट की वारदात को भी अंजाम दिया. पीड़ित प्रोफेसर की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है.

जानकारी के मुताबिक पेशे से प्रोफेसर के पास एक महिला का अनजान नंबर से फोन आया. प्रोफेसर ने उससे बात कर ली इसके बाद यह सिलसिला सा चलने लगा. महिला का फोन आता और प्रोफेसर बात कर लेते. प्रोफेसर का आरोप है कि एक दिन महिला ने बच्चे की बीमारी का बहाना बनाकर उन्हें अपने घर बुलाया, जहां पहले से ही दो व्यक्ति मौजूद थे.

प्रोफेसर का आरोप है कि उन्हें बंधक बनाकर उनके कपड़े उतारे गए और महिला ने अश्लील वीडियो बनाई. उनका आरोप है कि तब से उन्हें ब्लैकमेल करते हुए 10 लाख रुपये की मांग की जा रही है और नहीं देने पर वीडियो वायरल कर देने की धमकी दी जा रही है. प्रोफेसर के मुताबिक महिला और उसके साथियों ने यह भी कहा कि पत्रकार हैं, मीडिया में चलवा देंगे.

प्रोफेसर किसी तरह आरोपियों के चंगुल से छूटकर पुलिस के पास पहुंचा और आपबीती बताई. पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. दो आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है. पीजीआई थाने की पुलिस को सूचना मिली कि प्रोफेसर के साथ घटना को अंजाम देने वाले फर्जी पत्रकार किसी और को फंसाने की फिराक में वृंदावन चिरैया बाग के पास घूम रहे हैं. जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है

Leave a Reply