कंगाली में आटा गीला, पाकिस्तान के लिए यह कहावत इन दिनों सटीक है। आर्थिक संकट का सामना कर रहे पाकिस्तान में महंगाई फिर सातवें आसमान पर पहुंच गया है। भारत में पेट्रोल-डीजल की महंगाई की वजह से लोगों लोग गाड़ियों की टंकी फुल नहीं करा पा रहे हैं तो पाकिस्तान में पेटभर खाना मुहाल हो गया है। पड़ोसी मुल्क में चीनी 100 रुपए किलो तक बिक रहा है तो आटे का भाव 68 रुपए किलो हो गया है। पिछले एक सप्ताह में आटे की कीमत में तेजी से इजाफा हुआ है।

पाकिस्तान की दुनिया न्यूज की एक खबर के मुताबिक, पिछले एक सप्ताह में 20 किलो आटे का बैग 366 रुपए महंगा हो गया है। ब्यूरो ऑफ स्टैटिक्स के आंकड़ों के हवाले से बताया गया है कि एक सप्ताह में आटे की कीमत में तेजी से इजाफा हुआ है और सियालकोट में इसकी कीमत 366 रुपए बढ़ गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि आटा सबसे अधिक हैदराबाद और कराची में महंगा है, जहां 20 किलो के बैग की कीमत क्रमश: 1360 और 1320 रुपए है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सियालकोट, गुजरांवाला, मुल्तान, पेशावर और लरकाना में चीनी की कीमत इस सप्ताह  5 रुपए किलो बढ़ी है तो फैसलाबाद, सरगोधा, सुक्कर और बहावलपुर में 4 रुपए किलो का इजाफा हुआ है। रावलपिंडी और पेशावर में चीनी की कीमत सर्वाधिक 100 रुपए किलो है। इसके अलावा तेल, घी और सब्जियों की कीमतों में काफी इजाफा हो रहा है, जिससे लोगों के लिए घर चलाना मुश्किल हो गया है।

गौरतलब है कि पहले से ही गरीब देश पाकिस्तान को कोरोना वायरस महामारी ने और कंगाल कर दिया है। जहां इमरान खान की सरकार दुनिया से कर्ज लेकर किसी तरह काम चला रही है तो यहां महंगाई ने आम लोगों की कमर तोड़ दी है। खाने-पीने की चीजें आम लोगों के बजट से बाहर हो गई हैं।

Leave a Reply