भारत में 16 जनवरी से कोरोना वायरस महामारी को हराने के लिए देश भर में एक साथ वैक्सीनेशन ड्राइव की शुरुआत की गई। कई लोगों को इसके साइड-इफेक्ट का अनुभव हुआ, जो मेडिकल एक्सपर्ट्स के अनुसार एक आम बात है।

कोरोना वायरस की वैक्सीन आपको कोविड-19 संक्रमण से बीमार पड़ने से बचा सकती है। दवाइयों की तरह वैक्सीन के भी साइड-इफेक्ट होते हैं। एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोविड-19 वैक्सीन लगने के बाद एक व्यक्ति को कुछ साइड-इफेक्ट्स महसूस हो सकते हैं। ये साइड-इफेक्ट्स आमतौर पर हल्के होते हैं, जिसमें हल्का दर्द, सूजन या फिर इजेक्शन जहां लगा वहां की त्वचा का लाल होना, बुख़ार, ठंड लगना, थकावट आदि जैसे लक्षण शामिल हैं।

इसके साथ ही वैक्सीन लेने के बाद कुछ सावधानियां बरतनी भी ज़रूरी हैं, जैस मास्क पहने रखना, शारीरिक दूरी बनाए रखना, स्वच्छता का ख्याल रखना आदि। इसके अलावा एक्सपर्ट्स का मानना है कि शराब और सिगरेट से भी दूर रहने की ज़रूरत है क्योंकि इससे वैक्सीन का असर कम पड़ सकता है।

शराब या सिगरेट से कैसे होता है नुकसान?

स्वास्थ्य विशेषज्ञ समुदाय का कहना है कि शराब पीने या फिर धूम्रपान करने से शरीर के उस तंत्र में बाधा होगी जिसमें कोविड-19 वैक्सीन के बाद एंटीबॉडी का उत्पादन होने की उम्मीद है।डॉक्टर्स का कहना है कि अगर कोई व्यक्ति कोविड-19 वैक्सीन लेता है और उसके बाद धूम्रपान या शराब पी लेता है, तो इससे एंटीबॉडी के उत्पन होने में बाधा आएगी और जिस स्तर की एंटीबॉडी की ज़रूरत है उतनी शरीर को नहीं मिल पाएंगी।

इसके साथ ही वैक्सीन लगने के 14 दिनों के बाद सेरोपोट्रेशन के उत्पन होने की उम्मीद होती है, जिसमें बाधा आ सकती है। हालांकि, वैक्सीन शॉट लगने के बाद अगर शराब या सिगरेट पी जाती है, तो इससे किसी तरह का रिएक्शन या असर नहीं दिखेगा।

अभी तक 24 जनवरी की शाम तक 28,613 सेशन्स में कुल 16,13,667 लोगों को कोविड-19 वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

Leave a Reply