कहावत है कि, इंसान को कभी किसी चीज की लत नहीं लगानी चाहिए। गुजरात में पालनपुर तहसील के भाभर गांव से  कुछ ऐसा ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जहां लूडो गेम को जुएं की तरह खेलते-खेलते युवक पर दस लाख का कर्ज हो गया। आखिर में कर्ज न चुका पाने से तंग आकर उस युवक ने नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली। इस मामले में पुलिस ने उसके 6 साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

पुलिस की जानकारी के अनुसार, पीयूष ठक्कर (23) नाम का युवक भाभरा गांव का रहने वाला था और सब्जी बेचने का व्यवसाय करता था। साथ ही वह जुआं खेलने का आदी था। पीयूष और उसके दोस्त लूडो गेम को जुए के रूप में खेलते थे। यही गेम खेलते-खेलते पीयूष पर 10 लाख रुपए का कर्ज चढ़ गया था, जिसे लौटाने के लिए उसके साथी उस पर दबाव बना रहे थे।

पीयूष ने कर्ज में चढ़े10 लाख में से 4 लाख रुपए दे चुका था और बाकी पैसों को लेकर बात धमकी से मारपीट तक पहुंच गई थी। इसी से तंग आकर पीयूष ने नहर में कूदकर सुसाइड कर लिया था।

युवक के परिवार वालों ने बताया कि वह शहर में जाकर सब्जी बेचता था। मंगलवार की सुबह भी वह रोजाना की तरह घर से बाइक लेकर निकल गया था। लेकिन रात को घर नहीं लौटा तो परिवार ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। वहीं, बुधवार को उसका शव नहर से मिला। हालांकि, पीयूष के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है, लेकिन परिवार ने ही बताया कि उस पर जुएं का कर्जा हो गया था।

Leave a Reply