बौंली। उपखंड क्षेत्र में बनास नदी बजरी के अवैध निर्गमन को लेकर प्रशासन द्वारा बजरी माफियाओं के विरुद्ध गुरुवार अलसुबह की गई कार्यवाही के दौरान बौंली कार्यवाहक उपखंड अधिकारी बद्रीनारायण मीणा बाल-बाल बच गए ।दौराने कार्रवाई बजरी माफियाओं ने अपने ट्रैक्टर ट्रॉली छुड़ाने के चक्कर में उनसे हाथापाई करने की कोशिश की जिसमें उनके कई जगह चोट आई है। उपखंड अधिकारी बद्रीनारायण मीणा ने बताया कि उनके पास पुलिस जाब्ता पर्याप्त संख्या में नहीं होने से बजरी माफिया उन पर हावी हो ग्ए जिसमें कई तो अपने ट्रैक्टर ट्रॉली जबरन छुड़ा कर ले गए करीबन 2 दर्जन से अधिक वाहनों को बड़ी मशक्कत के बाद जप्त किया गया। जब्ती की कार्रवाई के दौरान बजरी माफियाओं ने हमला करने का प्रयास किया इस दौरान चोट आ गई व बाल बाल बच गए। गौरतलब है कि क्षेत्र में बजरी के अवैध खनन और निर्गमन को लेकर गुरुवार अलसुबह पुलिस प्रशासन व खनिज विभाग की संयुक्त टीम के द्वारा जस्टाना व पीपलदा में अवैध रूप से निकल रही बजरी ट्रैक्टर टोलियां को रोकने के लिए कार्यवाही को अंजाम दिया गया तो जस्टाना से करीबन आठ टेक्टर टोली को टीम ने जप्त किया उसके बाद पीपल्दा धौराला मार्ग से अन्य दिनों की भांति गुरुवार को भी निकल रही बजरी भरी ट्रैक्टर-ट्रॉलियों को जप्त करने की कार्रवाई शुरू की गई तो अनेकों बजरी माफिया अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली को निकाल कर ले गए तथा कुछ उपखंड अधिकारी के साथ बदसलूकी करके निकाल कर ले जाने में कामयाब हो गए। टीम ने बड़ी मुश्किल से दो दर्जन के लगभग वाहनों को जप्त किया। उपखंड अधिकारी ने बताया कि क्षेत्र से बजरी के अवैध निर्गमन को लेकर आम जनता के द्वारा बराबर मिल रही शिकायतों के बाद गुरुवार को संयुक्त टीम के द्वारा बजरी माफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही की गई जिसमें बहुत बड़ी सफलता मिली है हालांकि पुलिस का जाब्ता कम होने से कार्रवाई ढंग से नहीं हो पाई व कई बजरी माफिया अपने वाहनों को निकाल कर ले जाने में सफल हो गए लेकिन उनकी वीडियो क्लिपिंग हमारे पास है उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी बजरी माफियाओं के इस कारोबार को रोकने के लिए प्रशासन सख्ती से कदम उठाएगा उनके विरुद्ध नियमित रूप से कार्रवाई जारी रहेगी।

Leave a Reply