नए साल में महंगाई के मोर्चे पर केंद्र सरकार को बड़ी राहत मिली है. दिसंबर महीने में खुदरा महंगाई दर में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है. खुदरा महंगाई दर दिसंबर में घटकर 4.59 फीसदी पर आ गई है. इससे पहले नवंबर में खुदरा महंगाई दर 6.93 फीसदी थी.

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों में कहा गया है कि दिसंबर में महंगाई दर घटकर 4.59 फीसदी पर आ गई है, जबकि पिछले साल अक्टूबर में खुदरा महंगाई दर 7.35 फीसदी थी. गौतरलब है कि मई 2014 के बाद अक्टूबर 2020 में महंगाई दर सबसे ज्यादा थी.

खाने-पीने की चीजें हुईं सस्ती 

खाने-पीने की चीजों के दाम घटने की वजह से दिसंबर में खुदरा महंगाई दर में नरमी आई है. दिसंबर 2020 में खाने-पीने की चीजों की महंगाई घटकर 3.41 फीसदी दर्ज की गई है, इससे पहले नवंबर में यह 9.5 फीसदी थी.

साल दर साल आधार पर दिसंबर में सब्जियों की कीमतों की ग्रोथ -10.41 फीसदी रही. इस दौरान ऑयल की कीमतों की ग्रोथ 20.05 फीसदी रही. अंडों की कीमतों की ग्रोथ 16.08 फीसदी और दालों की कीमतों में 15.98 फीसदी रही.

महंगाई दर में गिरावट के बाद अब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) द्वारा ब्याज दरों में कटौती की संभावना बढ़ गई है. क्योंकि आरबीआई अपनी मौद्रिक नीति तय करने में खुदरा मुद्रास्फीति को ध्यान में रखता है.

आईआईपी में गिरावट
वहीं नवंबर, 2020 में इंडेक्स ऑफ इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) में 1.9 फीसद का संकुचन देखने को मिला. अक्टूबर, 2020 में आईआईपी में 3.6 फीसद का ग्रोथ देखने को मिला था. वहीं, नवंबर, 2021 में आईआईपी में 2.1 फीसद की बढ़ोतरी देखने को मिली थी.

Leave a Reply