भोपाल । मध्य प्रदेश सरकार लव जिहाद जैसे मामलों पर काबू पाने के लिए कानून लाने की तैयारी में है। इसके लिए मसौदा तैयार हो चुका है और विधानसभा सत्र में इसे पेश किया जाएगा। इस बीच राजधानी भोपाल में लव जिहाद का मामला सामने आया है। यहां एक मुस्लिम युवक ने खुद को हिन्दू बताकर महिला से शादी की और बेटी होने के बाद अब उस पर मुस्लिम धर्म अपनाने का दबाव बना रहा है। महिला ने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात कर इसकी शिकायत की है। मंत्री मिश्रा ने मामले की गंभीरता से जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए है।

दरअसल, छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर की रहने वाली मधुमिता विश्वास की शादी 2003 में हुई थी। लेकिन पति की असमय मौत हो गई। कुछ दिन बाद महिला ने दूसरी शादी के लिए मैरिज साइट पर अपना प्रोफाइल डाला। वेबसाइट के जरिए ही भोपाल के अमित विश्वास नाम के युवक से रिश्ता हुआ। हिन्दू रीति रिवाज से मधुमिता ने शादी की। दूसरी शादी से एक बेटी होने के बाद पति ने महिला से बताया कि वो हिन्दू नहीं बल्कि मुस्लिम है। पति ने बेटी का नाम इस्लामिक रीति के अनुसार रखने और पत्नी पर इस्लाम धर्म अपनाने के लिए दबाव बनाना शुरू किया। पति का सच सामने आने के बाद महिला ने हिम्मत जुटाकर आरोपी युवक के खिलाफ भोपाल में मामला दर्ज कराया है। शुक्रवार देर शाम को महिला ने गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात कर उन्हें पूरे मामले की जानकारी दी और इंसाफ की गुहार लगाई। मधुमिता का आरोप है कि अमित बनकर शादी करने वाले अमीन ने उसे मारने और पागल घोषित करने की भी कोशिशें की।

पूरे मामले को सुनने के बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि भोपाल की एक युवती ने डरा-धमकाकर शादी करने और धर्मांतरण के लिए विवश किए जाने की शिकायत की है। पीडि़त युवती की फरियाद सुनने के बाद डीआईजी भोपाल को मामले की गंभीरता से जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि पीडि़त युवती के परिजनों ने डरा-धमकाकर और धर्म छुपाकर शादी कराए जाने की शिकायत प्रदेश की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के शासन में भी की थी लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। अब भाजपा की सरकार में धर्म स्वातंत्र्य विधेयक की चर्चा होने पर डरे-सहमे लोग सामने आने का साहस कर रहे हैं।

Leave a Reply