अदालत पहुंचते ही आरोपियों पर भड़के अधिवक्ता
कोटा,19 अक्टूबर। शहर पुलिस ने अधिवक्ता विजय कुमार वर्मा पर जानलेवा हमला करने, जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने व जेब से २० हजार रुपए निकालने के मामले में दो आरोपियों को रविवार देर रात गिरफ्तार किया। दोनों आरोपियों को सोमवार शाम को कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायालय में पेश किया, जहां अधिवक्ता आरोपियों पर भड़क उठे। एेसे में पुलिस व अधिवक्ताओं के बीच बहस भी हुई। एेसे में पुलिस ने बमुश्किल आरोपियों को न्यायालय में पेश किया, जहां से दोनों आरोपियों को २१ तक रिमांड के लिए पुलिस को सौंप दिया गया।
पुलिस उप अधीक्षक भगवत सिंह हिंगड ने बताया कि थाना क्षेत्र के अम्बेडकर नगर निवासी विजय कुमार बैरवा (५४) ने पुलिस में दर्ज करवाई रिपोर्ट में बताया कि शनिवार शाम को बालिता रोड पर सब्जी खरीदते समय बालिता की ओर से कुन्हाड़ी की ओर आ रहे सफेद स्कूटर ने उसे टक्कर मार दी। इसका विरोध करने पर मोंटी, उसके भाई, पिता व चाचा समेत १०-१२ व्यक्तियों ने उस पर हमला कर दिया और जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया और उसकी जेब से २० हजार रुपए निकाल लिए। आरोपी पुलिस की गाड़ी आते देख ये लोग मौके से भाग गए।

पुलिस ने पीडि़त की रिपोर्ट पर आरोपियों के खिलाफ जानलेवा हमले, चोरी, जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने का मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी।पुलिस ने मुखबिरों की सूचना पर दो आरोपियों बालिता रोड निवासी महावीर सिंह (५३) व रोहित सिंह (२४) को रविवार रात को गिरफ्तार किया।

दोनों आरोपियों को करीब ५० पुलिसकर्मियों की कड़ी सुरक्षा में न्यायालय में पेश किया गया। इस दौरान रेपिड एक्शन फोर्स के दर्जन भर जवानों को भी साथ लिया गया। अधिवक्ता से मारपीट के आरोपियों को न्यायालय में लाए जाने पर न्यायालय के बाहर अधिवक्ताओं की भीड़ जमा हो गई।

एेसे में पुलिस ने अधिवक्ताओं समेत अन्य जनों को अदालत में जाने से रोक दिया। केवल मामले से जुड़े अधिवक्ताओं, आरोपियों को न्यायालय में पेश कर आरोपियों से अन्य आरोपियों के बारे में पूछताछ, अधिवक्ता की जेब से निकाले गए रुपयों की बरामदगी के लिए रिमांड की मांग की गई। इस पर न्यायालय ने दोनों आरोपियों को २१ अक्टूबर तक के रिमांड के लिए पुलिस को सौंप दिया।

Leave a Reply