राजस्थान के अलवर जिले में पिछले साल 19 साल की दलित महिला से गैंगरेप के सभी पांचों आरोपियों को मंगलवार को एससी/एसटी केसों के लिए गठित विशेष अदालत ने दोषी ठहराया है। इनमें से चार को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है तो एक दोषी को पांच साल कैद की सजा दी गई है। अलवर के थानागाजी इलाके में 26 अप्रैल 2019 को एक दलित महिला से पांच लोगों ने उसके पति के सामने गैंगरेप किया। 

लोकसभा चुनाव के दौरान यह मुद्दा जोरशोर से उठाया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बहुजन समाज पार्टी चीफ मायावती ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान एफआईआर में देरी को लेकर राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार को घेरा था। इस बात को लेकर भी राजस्थान सरकार की आलोचना की गई कि घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने से पहले सरकार ने कोई ऐक्शन नहीं लिया। 

Leave a Reply